• -”हिमालयन संजीवनी क्लिनिक’ का हुआ उद्घाटन
  •  मील का पत्थर साबित होगा यह टेलीमेडिसिन सेंटर
  • -एचआईएचटी की शिक्षा, रोजगार के बाद स्वास्थ्य की सौगात
  • -पूज्य स्वामी राम के सपने को साकार करने की दिशा में एक और सफल कदम

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

सतपुली  : हिमालय के संत स्वामी राम के पैतृक गांव तोली, जयहरीखाल पौड़ी गढ़वाल में राज्य का पहला टेलीमेडिसिन सेंटर की विधिवत शुभारंभ हो गया है। पर्वतीय क्षेत्र में खुले टेलीमेडिसिन सेंटर को लाभ पहाड़ की जनता को मिलेगा।

मंगलवार को अक्षय तृतीया के अवसर पर हिमालयन इंस्टिट्यूट हॉस्पिटल ट्रस्ट (एचआईएचटी) का ‘हिमालयन संजीवनी क्लिनिक’ का उद्घाटन एचआईएचटी के अयक्षीय समिति के सदस्य व स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.विजय धस्माना व बी. मैथिली ने संयुक्त रूप से किया।

गुणवत्तापरक स्वास्थ्य व उच्च शिक्षा सुविधा देना था स्वामी जी का सपना

इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुये एचआईएचटी अध्यक्षीय समिति के सदस्य डॉ. विजय धस्माना ने कहा कि जन सेवा की मूल भावना के उद्देश्य से डॉ.स्वामी राम ने 1989 में एचआईएचटी की स्थापना की। पहाड़ के लोगों को गुणवत्तापरक स्वास्थ्य व उच्च शिक्षा सुविधा देना स्वामी जी का सपना था। उसी अवधाराणा के फलस्वरूप टेलीकॉन्फ्रेंसिंग सुविधा से युक्त ‘हिमालयन संजीवनी क्लिनिक’ को जनसाधारण को समर्पित किया गया है।

उन्होंने बताया कि रूरल डेवेलेपमेंट इंस्टिट्यूट (आरडीआई) व हिमालयन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एचआईएमएस) के कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के चिकित्सक सेंटर का संचालन करेंगे। इसके साथ ही स्वामी जी के सपने को साकार करने की ओर यह एक और सफल कदम होगा।

डॉ. धस्माना ने कहा कि पहाड़ से पलायन रोकने के लिए जरूरी है लोगों को बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा व रोजगार की सुविधा दी जाए। टेलीमेडिकल सेंटर की स्थापना से तोली ही नहीं आसपास के क्षेत्र के मरीज स्वास्थ्य सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

  • निकट भविष्य में स्वास्थ्य सेवाओं का होगा और विस्तार

उन्होंनेे कहा कि निकट भविष्य में स्वास्थ्य सेवाओं का और विस्तार किया जायेगा, जिसमें एक्सरे, अल्ट्रासाउंड जैसी सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास रहेगा। उद्धघाटन के अवसर पर डाॅ. राजीव बिजल्वाण, यतेंद्र धस्माना, प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर शिवम ढौंढियाल, कमल जोशी, सतेन्द्र चैहान, प्रमोद कोठारी, सोहन गुसांई, मनमोहन जोशी, डॉ मुकेश बिजल्वाण, आरपीएस रावत, सीपी नैथानी, प्रशांत धस्माना, हेमंत धस्माना, आशीष गौर, बचित्र सिंह, मीडिया एग्जीक्यूटिव अनूप रावत आदि स्थित रहे।

  • स्वास्थ्य का खर्चा  होगा कम

डॉ. विजय धस्माना ने बताया कि ‘हिमालयन संजीवनी सेंटर’ राज्य में पहाड़ में दी जा रही स्वास्थ्य सुविधा के लिहाज से मील का पत्थर साबित होगा। इसमें टेलीकॉन्फ्रेंसिंग की सुविधा मौजूद रहेगी। टेलीकॉन्फ्रेंसिंग सुविधा के जरिये संबंधित मरीजों को डॉक्टर वीडिया काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम तुरंत उपचार बता सकेंगे। इससे समय व स्वास्थ्य खर्च में कमी आएगी।

  • 50 से ज्यादा मरीजों की स्वास्थ्य जांच

इस अवसर पर निशुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया गया। जिसमें फिजिशियन डाॅ. नितिन कुमार, स्त्री रोग विेशेषज्ञ डाॅ. दीपिका शर्मा, नेत्र रोग विेशेषज्ञ डाॅ. दर्शिका रावत ने शिविर में पहुंचे 50 से ज्यादा मरीजों की स्वास्थ्य जांच करने के साथ निशुल्क दवा का वितरण किया। टेलीमेडिसिन सेंटर में प्रतिदिन सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक चिकित्सक मरीजों को देखेंगे। निशुल्क स्वास्थ्य कैम्प में नर्सिग सुपरवाइजर एसएस वेदवाल, प्रियंका बहुगुणा, लैब टेक्निशियन महेश नेगी, रेडियाग्राफर सुनील चैहान, आई टेक्निशियन अनूप गुसांई के अलावा तेजपाल, सतीश, प्रवीन, गजेन्द्र ने कैंप में अपना सहयोग दिया।

Advertisements