डाकपत्थर इलाके में धड़ल्ले से चल रहा अवैध खनन : वीडियो देखें ….

0
412
  • विधायक और खनन माफियाओं कि जुगलबंदी से चल रहा खनन : सूत्र 
  • जलविधुत निगम ,जिला प्रशासन और   खनन विभाग ने मूंदी आँखें 
  • डाकपत्थर बैराज पुल कभी भी हो सकता है भारी वाहनों के चलने से ध्वस्त
  • शिकायत पर डाकपत्थर पुलिस चौकी प्रभारी और एक सिपाही हटाये गए  

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून  :  विकासनगर और डाकपत्थर इलाके में यमुना और सहायक नदियों पर सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार एक विधायक और खनन माफियाओं की पुलिस से मिलीभगत से जमकर खनन किया जा रहा है। यहाँ तक कि बैराज इलाके के जिन पुलों को जलविद्युत निअगम द्वारा भारी वाहनों के लिए प्रतिबंधित किया गया है उन पुलों से जमकर भारी ट्रकों का आरपार आना-जाना बदस्तूर जारी है। बैराज क्षेत्र के ये पुल भारी वाहनों की आवाजाही से कभी भी जमीदोज हो सकते हैं। इतना ही नहीं रात के अँधेरे में तो अवैध खनन की रफ़्तार दोगुनी हो जाती है।

गौरतलब हो कि डाकपत्थर और विकासनगर इलाके में कालसी से लेकर यमुना पुल तक के क्षेत्र में वर्षों से अवैध खनन चल रहा है। इससे पहले भी कई बार रात को एसडीएम के नेतृत्व में अवैध खनन के खिलाफ तहसील व  पुलिस प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई कर कई डंपर सीज किए जा चुके हैं। खनन माफियाओं के खिलाफ चली कार्रवाई से कुछ दिनों तक तो खनन माफिया में हड़कंप मचा रहता है। लेकिन बाद में सेटिंग-गेटिंग के इस खेल में तहसील प्रशासन के अधिकारियों से लेकर पुलिस तक शामिल हो जाती है और फिर अवैध खनन का कार्य शुरू हो जाता है ।

हालांकि कहने को तो राजस्व, वन विभाग व पुलिस की संयुक्त गश्त भी की जाती रही है लेकिन फिर भी मिलीभगत से सबकुछ धड़ल्ले से चल रहा है जबकि अभी कुछ दिन पहले एसएसपी के निर्देश पर सीओ विकासनगर ने दो पुलिसकर्मियों को खनन माफियाओं से मिलीभगत की शिकायत के बाद डाकपत्थर चौकी से हटाया है। वहीं अवैध खनन से डाकपत्थर बैराज भी क्षतिग्रस्त होने कि कगार पर पहुँच गया है यहाँ कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है क्योंकि जिस बैराज के पुल से ये भारी ट्रक गुजरते है उसकी भर क्षमता मात्र आठ -नौ टन कि है जबकि अवैध खनन सामग्री से भरे इन ट्रकों में 150 टन तक खनन सामग्री ढोई जा रही है। इससे इन पुलों को ही ख़तरा पैदा हो गया है।

गौरतलब हो कि पछवादून में अवैध खनन का काला कारोबार 12 महीने चलता रहता है। अवैध खनन भी होता रहता है और प्रशासन की कार्रवाई भी बावजूद इसके आजकल डाकपत्थर इलाके में सूत्रों के अनुसार एक विधायक की सरपरस्ती में जब खनन हो तो क्या पुलिस क्या राजस्व विभाग के अधिकारियों कि हिम्मत जो अवैध खनन को रोक सके वह भी तब जब  विधायक सत्ता पक्ष का हो। इतना ही नहीं इस अवैध और अनियंत्रित खनन ने पछवादून में सदानीरा नदियों से बरसाती खालों में अपना प्राकृतिक बहाव बदल कर बस्तियों व कृषि भूमि की तरफ कर दिया है, जिससे यहां बरसात में हर बार नुकसान झेलना पड़ता रहा है।

वीडियो यहाँ देखें कैसे गुजर रहे हैं भारी ट्रक>>>>>