• दो ब्लाकों तथा लगभग चालीस ग्राम पंचायत का एकमात्र हॉस्पीटल
  • स्वास्थ्य उपकेन्द्र पिछले पैतीस सालों से जीर्ण शीर्ण

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

धनौल्टी । पर्यटन नगरी धनौल्टी का राजकीय स्वास्थ्य उपकेन्द्र बजट के अभाव से दम तोड़ रहा है जबकि पर्यटन सीज़न शुरू हो गया है यह पर देश विदेश से लाखों पर्यटक आते हैं मगर किसी की तबियत खराब हो गयीं तो देहरादून या मसूरी जाना पडता है साथ ही यह उपकेंद्र दो ब्लाकों तथा लगभग चालीस ग्राम पंचायत का एकमात्र हॉस्पीटल हैं।

यह स्वास्थ्य उपकेन्द्र पिछले पैतीस सालों से जीर्ण शीर्ण भवन पर चल रहा स्वास्थ्य उपकेन्द्र धनौल्टी प्रधान सुमित्रा देवी क्षेत्र पंचायत सदस्य तपेन्दर बेलवाल प्रधान प्रतिनिधि देवेन्द्र बेलवाल व्यापार मण्डल अध्यक्ष रधुवीर रमोला का कहना है कि हमने नये भवन के लिए जगह दिलाई मगर अभी काम अधूरा पड़ा हुआ है जिससे लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है।

उन्होंने बताया कई ग्रामीणों की आर्थिक स्थिति इतनी ख़राब है कि वे देहरादून या मसूरी तक बीमार आदमी को ले जाने का खर्च नहीं उठा पा सकता है और इस राजकीय स्वास्थ्य उपकेन्द्र मे एक मात्र कर्मचारी के भरोसे चल रहा है।

उन्होंने बताया संविदा वाली डाक्टर है तो कभी आती कभी नहीं जबकि यह विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी हैं। स्वास्थ्य उपकेन्द्र हैं स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकार इस और कोई ध्यान नहीं दे रही है। स्थानीय सोवन गुसांईं सुरेश बेलवाल विकास गुसांईं देवेन्द्र बेलवाल यशपाल बेलवाल कुलदीप नेगी मनोज उनियाल उत्तम गुसांईं महीपाल कठैत वीरेन्द्र उनियाल पदमसिह कठैत बिसान सिंह बेलवाल आदि ने सरकार से इस अस्पताल को ठीक से व्यवस्थित करने की मांग की है ताकि पर्यटकों के साथ स्थानीय लोगों को भी इसका लाभ मिल सके।

Advertisements