मुख्यमंत्री ने कहा, उत्तराखंड में युवाओं के लिए किया जा रहा आयोग का गठन

0
200

मुख्यमंत्री रावत ने भारतीय जनता युवा मोर्चा की वर्चुअल रैली को किया संबोधित

युवा मोर्चा पार्टी की शक्ति है, युवा पार्टी का पावर हाउस हैः सीएम

युवाओं को रोजगार के लिए भरसक कोशिश कर रही सरकारः त्रिवेंद्र

पर्यटन में असीमित संभावनाएं, पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया हैः रावत

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भारतीय जनता युवा मोर्चा की वर्चुअल रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि युवा मोर्चा पार्टी की शक्ति है, युवा पार्टी का पावर हाउस है। कोरोना महामारी के समय आम जनता को राहत पहुंचाने के लिए युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने बढ़-चढ़कर अपना योगदान दिया। जन जागरूकता के लिए भी सरकार और प्रशासन के साथ मिलकर सराहनीय कार्य किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने 85 प्रतिशत घोषणाएं पूरी की हैं। जनभावनाओं के अनुरूप गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाया है। भ्रष्टाचार पर तीखे प्रहार किए हैं। सरकार अपने एक-एक वादे को पूरा करने के लिए तत्पर है। युवा मोर्चा कार्यकर्ता सोशल मीडिया वारियर्स बनें और राज्य सरकार के कार्यों और पार्टी की नीति को जनता तक पहुंचाएं।
उन्होंने कहा कि आपकी सरकार ने गरीबों, युवाओं, महिलाओं और किसानों के साथ ही एक ऐसा वर्ग जिसकी कोई जाति या धर्म नहीं होता, के लिए महत्वपूर्ण काम किया है। सरकार अनाथ बच्चों की अभिभावक बन कर सामने आई है। उत्तराखंड सरकार पहली सरकार है, जिसने अनाथ बच्चों के लिए पांच प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में युवाओं के लिए युवा आयोग का गठन करने जा रहे हैं। हमारी सरकार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने की दिशा में भरसक कोशिश कर रही है। ऐसी ही एक महत्वपूर्ण योजना है, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना। इसमें डेढ़ सौ से अधिक कार्य लिए गए हैं। इनमें से अपनी रुचि अनुसार किसी भी कार्य में स्वरोजगार शुरू कर सकते हैं, हमारी सरकार पिरूल नीति लेकर आई है। इस नीति के तहत बिजली ब्रिकेटिंग इकाई शुरू की जा सकती है। अल्मोड़ा में इसका एक प्रोजेक्ट काम भी कर रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सीपैट संस्थान राज्य में लेकर आए, जिसमें सौ प्रतिशत रोजगार की गारंटी है। इसी प्रकार नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी की स्थापना भी यहां की जा रही है। इससे विधि के क्षेत्र में अनेक अवसर युवाओं के लिए खुलेंगे। सरकार युवाओं के लिए बहुत से काम कर रही है। बहुत से संस्थान यहां स्थापित किए गए हैं। इन सब के बारे में राज्य के युवाओं तक जानकारी पहुंचाने का दायित्व जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं का है।
उन्होंने कहा कि पर्यटन में रोजगार की असीमित संभावनाएं हैं। हमने पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया है। नए पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन जैसी महत्वपूर्ण योजना शुरू की गई हैं। यह सभी हमारे भविष्य के पर्यटन के मुख्य आकर्षण के केंद्र रहेंगे। सभी डेस्टिनेशन अलग अलग थीम पर आधारित हैं।
उड़ान योजना के अंतर्गत हेली सर्विस शुरू करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य है। भारत का पहला ड्रोन एप्लीकेशन सेंटर उत्तराखंड में ही शुरू किया गया है। हमारे बच्चे आधुनिक और भविष्य की टेक्नोलॉजी में रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकेंगे। मसूरी, केदारनाथ, नैनीताल आदि स्थानों के लिए रोपवे का काम चल रहा है। रोजगार की सबसे अधिक संभावनाएं पर्यटन में हैं। युवाओं को इसका अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए।
हमारी होम स्टे योजना सबसे अधिक लोकप्रिय हुई है। गांव में अपने घर में ही होमस्टे प्रारंभ किया जा सकता है। आज शहरी और विदेशी लोग भी ग्रामीण जीवन का अनुभव लेना चाहते हैं। पिछले तीन साल में फिल्म शूटिंग को भी काफी बढ़ावा मिला है। उत्तराखंड को बेस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का अवार्ड मिला है। इसके पीछे एक बड़ा कारण हमारे लोगों का स्वभाव भी है। फिल्मकार भी यहां के लोगों की प्रशंसा करते हैं कि उन्हें शूटिंग के दौरान किसी तरह का व्यवधान नहीं हुआ बल्कि सहयोग ही मिला है। फिल्म शूटिंग में भी हमारे राज्य के नौजवानों के लिए अच्छी संभावनाएं बन रही हैं।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी काफी काम हुआ है। जब हमारी सरकार बनी थी तब एक भी जिला अस्पताल में आईसीयू नहीं था। आज हर जिले में आईसीयू की सुविधा है। वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। हम एक साथ तीन मेडिकल कॉलेज लेकर आए हैं- हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और पिथौरागढ़।
कोविड-19 के संक्रमण को रोकने में भी काफी हद तक कामयाब रहे हैं। हम उत्तराखंड लौटने के इच्छुक हर प्रवासी को राज्य में लाए हैं। इसके लिए रेलवे को एक करोड़ रुपये एडवांस भी दिया गया। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री और रेल मंत्री का आभार व्यक्त किया कि उन्होंने प्रवासियों को वापस लाने के लिए रेल उपलब्ध कराईं। देश के विभिन्न स्थानों से प्रवासियों को रेल व अन्य माध्यमों से उत्तराखंड लाया गया है। इन्हें राशन आदि भी उपलब्ध कराया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने कोविड हॉस्पिटल और कॉविड केयर सेंटर बनाए। यहां 19000 बेड की क्षमता है। हम टेस्टिंग की सुविधा बढा रहे हैं। सरकार हर सम्भव कोशिश कर रही है। फिर भी सतर्क रहने की जरूरत है। विशेष कर युवाओं को। हमें इस बीमारी से लड़ना है। फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करें और मास्क का प्रयोग करें।
इस अवसर पर केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल सहित युवा मोर्चा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहे।