• सड़क के मलवे को घरों की ओर फेंके जाने से गुस्साई महिलायें 

मदकोट, (पिथौरागढ़) : भारी बारिश के बाद सड़क पर आये मलवे को घरों की ओर फेंके जाने से गुस्साई रोपाड़ गांव की महिलाओं ने लोक निर्माण के अधिकारी की चप्पलों से जमकर पिटाई कर डाली इतना ही नहीं लोक निर्माण विभाग के एसडीओ के साथ पहुंचे सत्तारूढ़ दल के भाजपा के कुछ स्थानीय नेता महिलाओं का रौद्र रूप देख अधिकारी को पिटता छोड़ घटनास्थल से भाग गए। इतना ही नहीं ग्रामीण महिलाओं ने लोकनिर्माण विभाग के अन्य अधिकारियों को भी चेतावनी दी है कि यदि अब बरसात से सड़क पर आये मलवे को उनके घरों की तरफ फेंका गया तो लोनिवि दफ्तर में धरने पर बैठ जाएंगी और अधिकारियों की ईंट से ईंट बजा देंगी।

गौरतलब हो कि पिथौरागढ़ जिले की मदकोट तहसील में पिछले दिनों हुई भारी बारिश के चलते ग्राम वल्थी से डोलमा तक की सड़क जगह-जगह मलबा आने से बाधित हो गई थी। सड़क खोलने के लिए शासन और प्रशासन की ओर से लोक निर्माण विभाग पर दबाव भी बना हुआ था। वहीँ जब बीते दिन लोनिवि ने रोपाड़ गांव के ऊपर से गुजर रही सड़क पर आए मलबे को हटाने का काम शुरू किया तो सड़क का मलबा जब गांव के घरों में घुसने लगा तो ग्रामीण सड़क पर एकत्रित हो गए। अपने घरों को मलवे से ख़तरा देखते हुए जब ग्रामीणों ने मलबे को गांव की सीमा से बाहर फेंकने की मांग की। तो इसके बाद लोनिवि ने सड़क से मलवे को हटाने के काम रोक दिया जिससे ग्रामीण आक्रोशित हो गए।

वहीँ शनिवार (आज) तब लोनिवि के अधिकारी फिर टीम लेकर सड़क खोलने के लिए पहुंचे और उन्होंने सड़क का मलवा गाँव में गिराना शुरू किया तो सड़क का मलबा फिर गांव के घरों में गिरने लगा तो इस पर ग्रामीण महिलायें आक्रोशित होकर सड़क पर पहुंच गई। इस दौरान इन महिलाओं ने मौके पर पहुंचे लोनिवि के एसडीओ की चप्पलों से जमकर धुनाई कर डाली ,महिलाओं के आक्रोश को देखते हुए बाद में एसडीओ और भाजपाई मौके से खिसक लिए। महिलाओं का कहना था कि विभाग गांव वालों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहा है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। समाचार लिखे जाने तक मामले में लोनिवि की ओर से फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Advertisements