बालाकोट में जैश के आतंकी ठिकानों पर बम गिराने वाले पांच पायलट को वायुसेना मेडल 

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में शहीद प्रकाश जाधव को मिलेगा मरणोपरांत कीर्ति चक्र 

देश के 8 सैनिकों को शौर्य चक्र से किया जाएगा सम्मानित इनमें से 5 को यह सम्मान मिलेगा मरणोपरांत

केंद्र सरकार देगी 96 पुलिसकर्मियों (15 सीबीआई) सहित को उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार  

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

बालाकोट एयरस्ट्राइक को मिराज-2000 लड़ाकू विमान पायलट से अंजाम देने वाले पायलटों के नाम

विंग कमांडर अमित रंजन

स्क्वाड्रन लीडर राहुल बसोया

स्क्वाड्रन लीडर पंकज भुजडे

स्क्वाड्रन लीडर बीकेएन रेड्डी

स्क्वाड्रन लीडर शशांक सिंह

नई दिल्ली । 73वें स्वतंत्रता दिवस से पहले सरकार ने Balakot Airstrike को अंजाम देने वाले वायु सैनिकों के लिए वीरता पुरस्कारों की घोषणा कर दी है । पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को जहां उनकी वीरता के लिए वीर चक्र से नवाजा जाएगा वहीं आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को ध्वस्त करने वाले पांच अन्य फाइटर पायलटों को ‘वायुसेना मेडल’ से नवाज़ा जायेगा । इतना ही नहीं कश्मीर में पाक विमानों की घुसपैठ के दौरान फाइटर कंट्रोलर की जिम्मेदारी संभालने वालीं स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को भी युद्ध सेवा मेडल से नवाज़ा जाएगा।

विंग कमांडर अभिनंदन को युद्धकाल में अदम्य साहस के लिए वीर चक्र मिलेगा। अब तक के युद्धकाल में दिया जाने वाला तीसरा सबसे बड़ा सैन्य सम्मान है। पहले नंबर पर परमवीर चक्र और दूसरे पर महावीर चक्र हैं। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में शहीद प्रकाश जाधव को मरणोपरांत कीर्ति चक्र और 8 सैनिकों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा। इनमें से 5 को यह सम्मान मरणोपरांत मिलेगा। केंद्र सरकार ने इस बार 96 पुलिसकर्मियों को उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार देने का फैसला किया है। इनमें 15 सीबीआई से हैं।

पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप को तबाह करने वाले वायुवीरों का सम्मान किया गया है। भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वाड्रन लीडर राहुल बसोया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी, शशांक सिंह को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी शिविर पर बमबारी के लिए वायु सेना पदक (वीरता) से सम्मानित किया गया है। ये सभी अधिकारी मिराज-2000 लड़ाकू विमान पायलट हैं।

भारतीय वायुसेना के ये सभी अधिकारी मिराज-2000 लड़ाकू जेट के पायलट हैं, इन्होंने ही पाकिस्तान के बालाकोट शहर में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी शिविर पर बमबारी की थी।

Advertisements