क्या कोई  मां हो सकती है इतनी निष्ठुर ,क्रूर या निर्दयी ?

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
हरिद्वार : क्या कभी कोई माँ इतनी क्रूर हो सकती है कि अपने दुधमुंहे बच्चे को अपना स्तनपान कराने और उसके रोने के कारण उसका क़त्ल कर सकती है शायद नहीं। लेकिन यह घटना जिस किसी को पता चली वह अवाक रह गया कि कैसे एक माँ अपने बच्चे का केवल इन कारणों से क़त्ल कर सकती है। हर कोई ऐसे माँ की करतूत पर उसको कोस रहा है और कह रहा है जब उसे अपने ही जिगर के टुकड़े से इतनी नफरत ही गयी थी तो किसी को गोद दे देती या किसी आश्रम को दे सकती थी जहाँ उसका लालन -पालन हो जाता।
घटना हरिद्वार जिले के कनखल इलाके स्थित सरला सदन (सर्वप्रिय विहार) कालोनी की है। जहां छह माह के मासूम अंश के घर से गायब होने के प्रकरण का पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार अंश की क्रूर माँ संगीता बलूनी ने ही अपने बेटे को गंगा में डूबाकर हत्या की थी और शव गंगा की मुख्य धारा में बहा दिया था।
पुलिस ने  मामले का खुलासा सीसीटीवी फुटेज की बदौलत किया है।  जहाँ देर रात तक चली पूछताछ के बाद आखिरकार आरोपी निर्दयी मां ने अपना गुनाह कबूल किया। इस निर्दयी माँ ने पुलिस को बताया कि बेटे के कत्ल की मुख्य वजह आरोपी मां ने स्तनपान एवं उसका रोना बताया है।

मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने थाना कनखल कैंपस में रिश्ते को झकझोर कर रख देने वाली इस वारदात का परत दर परत खुलासा किया। बकौल एसएसपी कि हीरो मोटो कोर्प में कार्यरत मूल रूप से जयहरीखाल (पौड़ी) के रहने वाले दीपक बलूनी की शादी पांच साल पहले गुमानीवाला, ऋषिकेश की रहने वाली संगीता से हुई थी। 

उन्होंने बताया कि संगीता बलूनी ने रविवार की शाम अपने छह माह के बेटे अंश के घर से गायब होने की झूठी सूचना पुलिस को दी थी। उसने पुलिस को जानकारी दी थी कि वह पास की डेयरी पर दूध लेने गई थी, जब वापस लौटी तो उसका बेटा गायब मिला, जबकि घर पर उस वक्त उसकी तीन साल की बेटी ही मौजूद थी।

वहीं एसओ हरिओमराज चौहान की अगुवाई में पुलिस टीम ने जब क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तब महिला एक काले रंग का बैग ले जाते हुए दिखाई दी। पुलिस को संदेह होने पर देर रात महिला को थाने बुलाकर पूछताछ की गई तो उसने अपना गुनाह कबूला लिया। बकौल एसएसपी की मां ही काले रंग के बैग में बेटे को डालकर आनंदमयी पुलिया के पास लेकर पहुंची थी। 

पुलिस के अनुसार संगीता बलूनी ने बेटे अंश की गंगा में डूबाकर हत्या कर दी। बेटे की मौत होने के बाद शव को गंगा में बहाकर काले रंग के बैग को लेकर वापस घर आ गई। एसएसपी ने बताया कि यह निर्दयी मां ने कबूला है कि वह बेटे की परवरिश ठीक से नहीं कर पा रही थी क्योंकि उसका दिवंगत बेटा अंश बाहर का दूध नहीं पीता था और उसका ही स्तनपान ही करता था और रोता भी बहुत था।

संगीता ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह इस बात से वह बेहद परेशान हो चुकी थी। इसी वजह से उसने बेटे की हत्या करने की ठान ली थी। एसएसपी ने बताया कि बेटे की हत्या को उसने बच्चा चोरी का रूप देने की कहानी बनाई। पुलिस के अनुसार उसने आरोपी मां को गिरफ्तार कर लिया गया है। मासूम के शव को गंगा में तलाश कर रहे हैं। 

Advertisements