जब मेरे पांव छूने आया था तब क्या मैं कांग्रेसी नहीं था : भगतराम ..देखिये वीडियो …

0
417
  • जब विधानसभा अध्यक्ष बोले… तेरी औकात सब जानते हैं 

  • ‘चैम्पियन ” के बाद भाजपा राज्य मंत्री का वीडियो हुआ वायरल 

  • भगवान तुझे छोड़ेगा नहीं दो कौड़ी का आदमी है तू …..भगतराम

  • विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल को दी भद्दी-भद्दी गालियां 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून  :  अभी खानपुर के बिगड़ैल भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह ”चैम्पियन ” का एक वीडियो चर्चाओं में आया ही था जिसमें वे एक चैनल के पत्रकार को धमकी देते हुए दिखाई दे रहे थे। वहीँ आज और वीडियो वायरल हुआ है जिसमें विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल और राज्य मंत्री दायित्वधारी भगतराम कोठारी के बीच जमकर गली -गलौज हो रही है। पता चला है कि यह वीडियो बीते दिन का है जब केंद्रीय मंत्री शेखावत ऋषिकेश प्रवास पर थे।

विधानसभाध्यक्ष ने कई बार किया है प्रोटोकॉल का उलंघन !

वहीं विधानसभा अध्यक्ष का अपना प्रोटोकॉल होता है। विधानसभा अध्यक्ष सड़क पर खड़े होकर किसी का स्वागत नहीं करता है। मगर हाल के दिनों में चाहे तीरथ सिंह रावत का नटराज चौक पर स्वागत का मामला राम हो चाहे केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के चंद्रभागा पुल के पास स्वागत का मामला। चर्चाओं के अनुसार ऋषिकेश विधानसभा से बाहर जैसे माजरी ,रानी पोखरी, लाल तप्पड़ आदि इलाके से कोई बीमारी के लिए राहत का आवेदन देता है तो विधानसभाध्यक्ष उन्हें उल्टा जवाब देकर और मुख्यमंत्री का क्षेत्र बताकर भगा देते रहे हैं। जबकि विधानसभा अध्यक्ष पूरे प्रदेश की जनता का है मात्र ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र का नहीं।

लेकिन इन दोनों वीडियो को देखकर यह सोचने पर मजबूर हैं कि उत्तराखंड में कैसे हमारे जनप्रतिनिधि है जो खुले आम कहीं कोई पत्रकार को जान से मारने की धमकी दे रहा है तो कहीं एक भाजपा नेता दूसरे भाजपा नेता को बुरी-बुरी गालियां सरे आम दे रहे हैं। 

चर्चा है कि विधानसभा अध्यक्ष जैसे संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति का आचरण और राज्य मंत्री का आचरण बहुत ही निंदनीय रहा जब दोनों एक दूसरे को देख लेने की धमकी दे रहे हैं।  पता चला है कि बीते दिन केंद्रीय मंत्री ऋषिकेश में नमामि गंगे से हो रहे कार्यों का जायजा लेने के लिए यहां पहुंचे थे और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल और राज्य मंत्री भगतराम कोठारी भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे कि अचानक दोनों के बीच तू-तू मैं-मैं हो गई जो बाद में गाली गलौज तक जा पहुंची। 

चर्चा है कि यह वाकया केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के माल्यार्पण के दौरान पहले माल्यार्पण करने को लेकर हुई है।