खत्म हुआ इंतजार श्री झण्डे जी का सोमवार को होगा आरोहण

0
406
  •  25 मार्च सायं को होगा झण्डे जी का आरोहण
  • दरबार साहिब परिसर रोशनी में नहाया
देवभूमि मीडिया ब्यूरो
देहरादून। प्रेम, सद्भावना, भाईचारा, मानवता, श्रद्धा व आस्था का प्रतीक श्री झण्डा जी मेला सोमवार से आरम्भ हो जाएगा। देश विदेश से आई लाखों की संगत जिस पावन बेला का साक्षी बनने का इंतजार कर रही है वो खुशनसीब घड़ी आ गई है। इस अवसर पर दून के ऐतिहासिक श्री दरबार साहिब में सोमवार को श्री झंडे जी का आरोहण किया जाएगा। इसके लिए रंग-बिरंगी रोशनी और फूलों से श्री दरबार साहिब को सजा दिया गया है। 
गौरतलब हो कि इस ऐतिहासिक धार्मिक स्थल का करीब 400 साल पुराना इतिहास है। जिसमें श्री गुरु राम राय ने विशाल झंडे जी को स्थापित किया था। तभी से श्री झंडे जी मेले में शामिल होने की परंपरा शुरू हुई। देश-विदेश से बड़ी संख्या में संगतें मेले में शामिल होने आती है। इस बार पंजाब के होशियारपुर जिले के गांव शिमली निवासी केसर सिंह इस बार दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे। इसके लिए वह अपने परिवार समेत दून पहुंच चुके हैं। उनके पिता तेज सिंह ने 105 साल पहले मनोकामना पूरी होने पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाने के लिए आवेदन किया था।
श्री झण्डे जी आरोहण को लेकर विशेष पूजा अर्चना का क्रम सोमवार सुबह से ही जारी हो जायेगा। श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज लाखों संगतों की मौजूदगी में सोमवार शाम को श्री झण्डे जी का आरोहण करेंगे। श्री दरबार साहिब, श्री झण्डा मेला प्रबन्धन समिति की ओर से रविवार शाम को सभी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया। श्री झण्डा जी आरोहण स्थल पर सभी आवश्यक तैयारियों को पूरा किया गया। 
श्री गुरु राम राय दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने श्री झण्डा जी मेला की पूर्व संध्या पर रविवार को संगतों को गुरुमंत्र दिया। गुरु मंत्र पाकर संगत धन्य-धन्य हो गई। सोमवार से श्री झण्डे जी मेले का विधिवत शुभारंभ हो रहा है। संगत ने गुरुमंत्र को आत्मसात करते हुए श्री झण्डा साहिब और श्री गुरु महाराज जी का आशीर्वाद लिया। श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने गुरु महिमा के महत्व को समझाया।
श्री महाराज जी ने कहा कि जो व्यक्ति गुरु के बताए मार्ग पर चलता है, उसे पृथ्वी पर ही स्वर्ग की अनुभूति मिल जाती है। श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने संगतों को संदेश दिया कि वे सामाजिक कुरितियों जैसे कन्या भ्रूण हत्या, नशा, दहेज प्रथा के खिलाफ मजबूत आवाज बनें व एक समृद्ध समाज के निर्माण में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रर्यावरण प्रदूषण वातावरण के लिए बड़ी चिंता का विषय बन चुका है। पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए पौधारोपण करें व जल का सही उपयोग करें
श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने प्रदेश व देशवासियों को संदेश में कहा कि लोकतंत्र का सबसे बड़ा महापर्व हम सब के सामने हैं। सभी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करें व एक मजबूत व स्थिर सरकार बनाने के लिए आवश्यक रूप से मतदान करें। श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने कहा कि मेले हमारे देश की विरासत व धरोहर हैं। मेलों में देश विदेश के लोग एकसाथ एकजुट होकर अपनी कला, संस्कृति व संस्कारों का आदान प्रदान करते हैं। मेले हमें जोड़ने का कार्य करते हैं, आपसी सद्भाव व भाईचारे को बढ़ाने का काम करते हैं।
श्री झण्डा जी मेला के व्यवस्थापक के.सी. जुयाल ने जानकारी दी कि श्री झण्डे जी मेले की परंपरा के अनुसार श्री झण्डे जी आरोहण से पूर्व रविवार शाम के समय पूरब की संगत को पगड़ी, ताबीज़ व प्रसाद वितरित किया गया। इसके साथ ही पूरब की संगत की विदाई की गई।  श्री झण्डा मेला प्रबन्ध समिति के व्यवस्थापक के.सी. जुयाल ने बताया कि सोमवार को श्री झण्डा जी मेला कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह 8 बजे से होगा। सुबह पुराने श्री झण्डे जी को उतारा जाएगा। सेवकों द्वारा दूध, दही, घी, मक्खन, गंगाजल और पंचगव्यों से नए श्री झण्डे जी को स्नान कराया जाएगा। दस बजे से श्री झण्डे जी (पवित्र घ्वज दण्ड) पर गिलाफ चढ़ाने का कार्य शुरू किया जाएगा।
सोमवार शाम 3 बजे से 5 बजे के बीच श्री झण्डे जी का विधिवत आरोहण किया जाएगा। मेला स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनज़र कड़े इंतजामात किए गए हैं। रविवार से विधिवत मेला थाना शुरू हो गया है। शहर कोतवाली के एसएसआई व मेला थाना प्रभारी अशोक सिंह राठोर, एसपी ट्रैफिक प्रकाश चन्द आर्य, सीओ यातायात राकेश देवली ने रविवार को मेला स्थल का मौका मुआयना किया। मेला थाना में आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध रहेगा। पुलिस अधिकारी समय-समय पर मेलास्थल का दौरा कर आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं।