थराली विधानसभा उप चुनाव के लिए पांच बजे तक हुआ लगभग 53.43 फीसदी से ज्यादा मतदान

0
447
  • दोपहर 3 बजे बजे तक हुआ 40.5 फीसद मतदान
  • देवसारी गांव के लोगों ने सड़क की मांग पूरी नहीं होने पर किया मतदान का बहिष्कार

थराली :  चमोली जिले की थराली विधानसभा सीट पर आज उपचुनाव के लिए मतदान चल रहा है। आज सुबह पहले एक घंटे में करीब आठ प्रतिशत मतदान हुआ। चमोली के जिला सूचना अधिकारी जीएस बिष्ट ने बताया कि देवाल क्षेत्र के देवसारी गांव के लोगों ने अपनी सड़क की मांग पूरी नहीं होने के विरोध में मतदान के बहिष्कार की घोषणा की है। इस सीट पर बनाए गए 178 मतदेय स्थलों पर सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हो गया। कुल मिलाकर समाचार लिखे जाने तक सायं पांच बजे तक मतदान समाप्त होने तक लगभग 53.43 फीसदी प्रतिशत मतदान की जानकारी प्राप्त हुई है जो पिछले विधानसभा चुनाव की अपेक्षा साढ़े छह फीसद कम रही। मतदान के साथ ही भाजपा, कांग्रेस, उक्रांद, भाकपा समेत एक निर्दलीय प्रत्याशी की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई है। मतदान को लेकर बुजुर्ग व महिलाओं में उत्साह देखा गया। भाजपा प्रत्याशी मुन्नी देवी शाह ने नारायणबगड़ के नलगांव बूथ व कांग्रेस प्रत्याशी प्रो.जीतराम ने रेई बूथ पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

पांच बजे बाद भी वाण, लोल्टी, ल्वाणी आदि स्थानों पर मतदाताओं की लाइन लगी रही। शाम लगभग सवा छह बजे मतदान पूरा हुआ। सरपाणी बूथ पर ईवीएम में खराबी के कारण दो घंटे और कुलिंग में पौन घंटे देरी से मतदान शुरू हुआ। 

चमोली के उपजिलाधिकारी और थराली सीट के निर्वाचन अधिकारी परमानंद राम ने बताया कि सड़क न बनाने से नाराज देवसारी के ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया। ग्रामीणों ने कहा कि दो दशक से उनके गांव को जोड़ने वाली 12 किमी सड़क नहीं बन पाई है। मतगणना 31 मई को कराई होगी।

क्षेत्र के 178 पोलिंग बूथ पर सुबह आठ बजे मतदान शुरू हुआ और अब तक सभी जगह से शांतिपूर्ण मतदान की सूचना है। थराली विधानसभा क्षेत्र में 50,991 पुरुष और 48,301 महिलाओं समेत कुल 99,292 मतदाता हैं। इसके अतिरिक्त 3,277 सर्विस वोटर भी हैं।

गौरतलब हो कि भाजपा विधायक मगनलाल शाह की इस वर्ष फरवरी में बीमारी के कारण मृत्यु होने से थराली सीट पर उपचुनाव हो रहा है। भाजपा ने इस सीट से दिवंगत मगनलाल शाह की विधवा मुन्नी देवी को चुनावी समर में उतारा है और उनका सीधा मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व विधायक डॉ. जीतराम शाह से हैं जबकि कुंवरराम (भाकपा), कस्बीलाल (उक्रांद) व बीरीराम (निर्दलीय) के भाग्य का फैसला आज मतदाताओं द्वारा किया जा रहा है।

  • ‘रोड नहीं तो वोट नहीं’

देवाल ब्लॉक के देवसारी गांव के लोगों ने ‘रोड नहीं तो वोट नहीं’ का नारा देते हुए थराली उपचुनाव का बहिष्कार किया। इस कारण गांव में एक भी वोट नहीं पड़ा और यहाँ से ईवीएम खाली लौटी। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि अगर समय पर देवसारी के लिए सड़क नहीं बनी तो वे आगामी लोकसभा एवं पंचायत चुनावों तक का भी वे बहिष्कार करेंगे। इस बूथ पर 557 मतदाता हैं।

ग्राम प्रधान बाली राम टम्टा, क्षेत्र पंचायत सदस्य मंजू परिहार, तारा सिंह, दर्शन गड़िया सहित तमाम ग्रामीणों ने कहा है कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी विकासखंड का सबसे नजदीकी गांव देवसारी सड़क सुविधा से वंचित है। गांव के गिवाईगैर,चीड़ाखेत, गजाखरीक, शेरीगाड़ रैयाड़ा बुनाराड़ी तोक में विद्युतिकरण नहीं हुआ है। ग्रामीण पिछले लम्बे समय से संघर्षरत हैं। वर्ष 2015 में सीएम ने सड़क की घोषणा की थी। सड़क की फायल लटकी पड़ी है। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि समय रहते सड़क निर्माण नहीं किया गया तो आगामी चुनावों का बहिष्कार जारी रहेगा।