देहरादून : क्या वास्तव में ऋषिकेश – रुद्रप्रयाग ऑल वेदर रोड की खुदाई के दौरान बदरीनाथ हाईवे पर खुदाई में दस टन सोना और चांदी का खजाना निकल आया। आजकल सोशल मीडिया पर इस तरह का एक सन्देश फोटो के साथ खूब चल रहा है।  लेकिन विभागीय अधिकारी लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड श्रीनगर के अधिशासी अभियंता जितेंद्र त्रिपाठी कहते हैं ऐसा कुछ नहीं है। खुदाई के दौरान कहीं भी सोने या चांदी का जखीरा नहीं मिला है। यह सोशल मीडिया पर किसी ने अफवाह उड़ाई है।

आजकल सोशल मीडिया में यह मैसेज चल रहा है कि ऋषिकेश और रुद्रप्रयाग के बीच हाईवे के काम में खुदाई के दौरान 10 टन सोना मिला है। इसके साथ कुछ फोटो भी कई तरह से पोस्ट की जा रही है। वहीं, नेशनल हाई वे के अधिकारियों ने इसे कोरी अफवाह बताया। वर्तमान में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग का ऑल वेदर रोड परियोजना में चौड़ीकरण कार्य चल रहा है।
वहीँ

पिछले माह सोशल मीडिया में परियोजना के संबंध में अफवाह फैली थी कि 2 मार्च से 20 मार्च तक चौड़ीकरण कार्य की वजह से सड़क कौडिय़ाला से देवप्रयाग के बीच बंद रहेगी। सोशल मीडिया में अतिसक्रिय रहने वाले लोगों ने यह पोस्ट फेसबुक और व्हाट्सएप पर धड़ाधड़ शेयर कर दी। जिससे अन्य लोग परेशान हो गए थे। जिसका जवाब देते-देते लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के अधिकारी थक गए।

अब एक-दो दिन से फिर एक और मैसेज सोशल मीडिया में शेयर हो है। इसमें फोटो अपलोड कर लिखा गया है कि हाईवे पर खुदाई के दौरान 10 टन सोना मिला है। जबकि हकीकत कुछ और है। पोस्ट के जो फोटो अपलोड की गई हैं, वह कुछ साल पूर्व अमरीका, ग्रेट ब्रिटेन और स्पेन की हैं। जहां खुदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के और प्राचीन बर्तन मिले थे। लेकिन किसी इन फोटो एक साथ जोड़कर बदरीनाथ हाईवे की खुदाई का बताते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

इस घटना पर जानकारी मिली है कि सोशल मीडिया में कुछ समय पूर्व मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में भी यही पोस्ट वायरल हुई थी। जिसमें पोस्ट किया गया था कि उक्त फोटो उक्त प्रदेशों में सड़क की खुदाई की हैं।

 

Advertisements