मानसून मैराथन -2019 में विपिन व रिमा के हाथ लगी बाज़ी

0
298

पौड़ी में साहसिक खेलों को मिलेगा बढ़ावा : सुबोध उनियाल 

पर्वतारोही शीतल ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का दिया संदेश

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

पौड़ी : जिला प्रशासन पौड़ी और रन टू लीव के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को पौड़ी में पहली बार मानसून मैराथन -2019  का आयोजन किया गया। मैराथन में हिस्सा लेने के लिए धावकों में गजब का उत्साह नज़र आया। मैराथन का शुभारंभ जिले के प्रभारी मंत्री सुबोध उनियाल ने किया। मैराथन के तहत पुरुष वर्ग के 21 किलोमीटर में विपिन कुमार और महिला वर्ग के 10 किलोमीटर में रीमा पटेल ने बाजी मारी।

पौड़ी को पर्यटन और साहसिक खेलों के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल की ऐतिहासिक पहल पर मानसून मैराथन का आयोजन किया गया। मैराथन में जहां एक ओर विदेशी धावकों ने हिस्सा लिया तो वहीं देश और दुनिया में अपने राज्य को सुशोभित करने वाले माउंट एवरेस्ट विजेता शीतल के साथ ही अंतरराष्ट्रीय धावक हरीश तिवारी, पर्वतारोही योगेश गर्ब्याल के साथ ही कई खिलाड़ी उत्साहवर्धन के लिए पौड़ी पहुंचे थे।

कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, उच्चशिक्षा मंत्री डा.धन सिंह रावत, एवरेस्ट विजेता शीतल राज ने कंडोलिया मैदान से मैराथन का शुभारंभ किया। मैराथन के तहत पुरुष वर्ग के 21 किलोमीटर और महिला वर्ग के 10 किलोमीटर की दौड़ कंडोलिया मैदान से ऐतिहासिक दुगड्डा ल्यासा मार्ग (टैका रोड़) के भैंरव मंदिर के समीप तक टर्न आउट प्वांट से वापस रामलीला मैदान तक आयोजित की गई। विजेता धावकों को कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, उच्चशिक्षा डा.धन सिंह रावत, विधायक पौड़ी मुकेश कोली, डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल, एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर आदि ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

पौड़ी मैराथन के शुभारंभ के लिए पौड़ी पहुंचे कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि पौड़ी को साहसिक खेलों में बढ़ावा देने के लिए मैराथन का आयोजन किया गया है। कहा कि सरकार पौड़ी को पर्यटन और साहसिक खेलों में अलग पहचान दिलाने को लेकर काम कर रही है। इस दौरान उन्होंने डीएम पौड़ी डीएस गर्ब्याल के कार्यों की सराहना की।

उच्चशिक्षा मंत्री डा.धन सिंह रावत ने कहा कि पौड़ी में साहसिक खेलों के लिए कई स्थान उपलब्ध है। सरकार पौड़ी में साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए कार्ययोजना बनाकर काम कर रही है। ये रहे पौड़ी मानसून मैराथन के विजेतापौड़ी मानसून मैराथन के तहत 21 किमी पुरुष वर्ग में विपिन कुमार ने पहला, हरि सिंह ने दूसरा, मनमोहन ने तीसरा, आनंद ने चौथा, डब्बल सिंह ने पांचवा, सुमित ने छठवां और अजय ने सातवां स्थान पाया। महिला 10किमी वर्ग में रिमा ने पहला, सोनिया ने दूसरा, नेहा ने तीसरा, अंजली ने चौथा, यामिनी ने पांचवा, मीनू ने छठवां और नूर्सत ने सातंवा स्थान पाया।

11 अगस्त को होगी जूनियर और सीनियर वर्ग की मैराथनमानसून मैराथन के तहत चार किलोमीटर सीनियर बालक, बालिका के साथ ही जूनियर बालक और बालिका की मैराथन को स्थगित करना पड़ा। दरअसल रविवार को इन वर्गों में दौड़ का आयोजन तो किया गया लेकिन इन वर्गों में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों को रूट की सही जानकारी नहीं होने से कई धावक 4 किलोमीटर से अधिक दौड़ गए। जिससे कई धावकों ने नाराजगी जताई। जिस पर प्रशासन ने निर्णय लिया गया कि इन वर्गो की मैराथन 11 अगस्त रविवार को आयोजित की जाएगी।

पौड़ी मैराथन में उत्तराखंड की माउंट एवरेस्ट विजेता शीतल राज बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। बेहत गरीब घर से निकली शीतल राज ने साल 2018 में सबसे कम उम्र में कंचनजंगा को फतह कर प्रदेश का मान बढ़ाया। इसके बाद शीतल ने साल 2019 में एवरेस्ट को फतह कर दुनिया में सबसे उम्र कर एकबार फिर नया कीर्तिमान अपने नाम किया।

पौड़ी पहुंचीं शीतल ने मैराथन में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं का संदेश देते हुए कहा कि आज के जमाने में लड़कियां किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। इस दौरान उन्होंने लोगों को पर्वतारोहण के बारे में जानकारी दी। कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, उच्चशिक्षामंत्री डा.धन सिंह रावत, विधायक पौड़ी मुकेश कोली, डीएम धीराज सिंह आदि ने शीतल के साहस और पराक्रम की सराहना की। इस दौरान शीतल के साथ कई धावकों ने सेल्फी भी खिंचवाई और आटोग्राफ भी लिए।