उत्तराखंड की एसिड अटैक पीड़ित हैं 11 महिलाएं 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : तेजाब पीड़ितों को पेंशन देने प्रस्ताव उत्तराखंड प्रदेश का महिला सशक्तिकरण विभाग तैयार कर रहा है।  इस प्रस्ताव को अगली मंत्रिमंडल की बैठक में रखा जायेगा।  प्रस्ताव के पास होने के बाद राज्य सरकार तेजाब से पीड़ित महिलाओं को हर महीने सात से दस हजार रुपये पेंशन देगी।  यदि यह प्रस्ताव पास हो गया तो उत्तराखंड राज्य देश का ऐसा पहला राज्य होगा जहां तेज़ाब से पीड़ित महिलाओं को सहायता मिल रही होगी 

महिला सशक्तिकरण मंत्री रेखा आर्य के अनुसार उत्तराखंड की एसिड अटैक पीड़ित 11 महिलाएं हैं जो कुछ समय पहले उनसे मिली थीं। उन्होंने बताया कि इन महिलाओं का कहना था कि उनका सामाजिक और मानसिक उत्पीड़न हो रहा है। प्रभावित महिलाओं ने अपनी पीड़ा की जानकारी देते हुए उन्हें बताया कि तेजाब हमले के बाद से सरकारी और निजी किसी भी क्षेत्र में उन्हें नौकरी देने से लोग डर रहे हैं परिणामस्वरूप उनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब हो चुकी है।

ऐसी महिलाओं ने सरकार से निवेदन किया है कि कोई ऐसी व्यवस्था बनाई जाए जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके। उन्होंने कहा कि महिलाओं की इस समस्या को देखते हुए इनको पेंशन देने की योजना बनाई जा रही है। राज्य मंत्री ने बताया ऐसी महिलाओं को पेंशन दिए जाने से उन्हें काफी हद तक आर्थिक सहायता मिल पाएगी। 

हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि कैबिनेट में इसे मंजूरी के बाद ही यह योजना परवान चढ़ पायेगी। उनके अनुसार वर्तमान में देश के किसी भी प्रदेश में तेजाब पीड़ितों को पेंशन की योजना नहीं है। उन्होंने कहा यदि इस मसौदे को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिली तो उत्तराखंड तेजाब पीड़ितों को पेंशन देने वाला देश का पहला राज्य बनेगा।   

Advertisements