चंपावत। भाजपा के दो दिग्गज पूर्व विधायक बीना महराना और केसी पुनेठा ने पार्टी की रीति-नीति से असंतुष्ट होकर इस्तीफा दे दिया है। दोनों नेताओं ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को अपना इस्तीफा भेजा है। पत्रकार वार्ता में पूर्व विधायक केसी पुनेठा और बीना महराना ने कहा कि वह गलत नीतियों के चलेत वे पार्टी से अलग हो रहे हैं।

पूर्व विधायक केसी पुनेठा ने कहा कि पार्टी पं. दीनदयाल उपाध्याय की नीतियों को छोडकऱ पूंजीवाद की तरफ बढ़ रही है। जमीनी स्तर के कार्यकर्ता की उपेक्षा हो रही है। भाजपा अब भाजपा नहीं रह गई है। वह कांग्रेस युक्त भाजपा हो गई है। पार्टी की इसी नीतियों से दुखी होकर इस्तीफा देने को मजबूर होना पड़ रहा है। अब यहां विचार नहीं धनबल हावी हो गया है। इसलिए भाजपा में बने रहने का औचित्य नहीं रह गया है।

पूर्व विधायक बीना महराना ने कहा कि जिन लोगों के खिलाफ भाजपा ने पांच साल में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए, आज उन्हीं लोगों को गले लगा लिया गया। भाजपा के जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी में दो घंटे पहले आए कार्यकर्ता को टिकट दे दिया जाता है। कांग्रेस पर परिवारवाद का आरोप लगाने वाली भाजपा आज खुद ही इसका शिकार हो गई है। हर जगह भाजपा का कार्यकर्ता बगावत कर रहा है। वह पार्टी को छोड़ रहा है। अब भाजपा चाल, चरित्र, चेहरा वाली पार्टी नहीं रह गई है। दोनों पूर्व विधायक केसी पुनेठा व बीना महराना ने कहा कि अभी चुनाव लडऩे पर विचार नहीं किया है। अगर जनता चाहेगी तो चुनाव लड़ा जाएगा। वे जनता के बीच जाकर उनसे राय मशवरा करेंगे। अगर जनता आदेश देगी तो चुनाव लड़ेंगे।

Advertisements