पर्यवेक्षक की मौजूदगी में नए अध्यक्ष के नाम पर लगेगी मुहर

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री रहे हैं कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून:  भाजपा उत्तराखंड को गुरुवार को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल जाएगा। बुधवार को चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही गहमागहमी बढ़ गई है। चुनाव के सिलसिले में पार्टी के पर्यवेक्षक केंद्रीय संसदीय कार्य राज्यमंत्री मंत्री अजरुनराम मेघवाल देर शाम दिल्ली से देहरादून पहुंच गए। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत गुरुवार को यहां पहुंचेंगे। गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में केंद्रीय पर्यवेक्षक की मौजूदगी में होने वाली बैठक में नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर मुहर लगेगी। नामांकन आदि औपचारिकताएं पूरी होने पर केंद्रीय पर्यवेक्षक नए अध्यक्ष के नाम का एलान करेंगे। अगर कोई बहुत बड़ा सियासी उलटफेर न हुआ तो प्रदेश अध्यक्ष पद पर तमाम समीकरणों को देखते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री एवं कालाढूंगी के विधायक बंशीधर भगत की ताजपोशी तय मानी जा रही है।

भाजपा के संगठनात्मक चुनाव के तहत मंडल व जिला स्तरीय चुनाव संपन्न होने के बाद सभी की नजरें नए प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव पर टिकी हैं। पूर्व में विभिन्न कारणों से दो बार आगे खिसके प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव के लिए 16 जनवरी की तिथि तय की गई। बुधवार को प्रदेश चुनाव अधिकारी बलवंत सिंह भौंर्याल ने चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी। हालांकि, बुधवार को किसी भी दावेदार ने नामांकन पत्र नहीं लिया। अलबत्ता, प्रदेश कार्यालय में दिनभर ही गहमागहमी बनी रही।

इस बीच प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव को नियुक्त केंद्रीय पर्यवेक्षक केंद्रीय संसदीय कार्य राज्यमंत्री मेघवाल देर शाम देहरादून पहुंच गए। एक अन्य पर्यवेक्षक मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी यहां पहुंचना था, मगर वह नहीं आए। चुनाव अधिकारी भौंर्याल के अनुसार केंद्रीय पर्यवेक्षक चौहान के आगमन का कार्यक्रम रद हो गया है। भौंर्याल ने बताया कि चुनाव की प्रक्रिया गुरुवार को होगी। सुबह 11 बजे से केंद्रीय पर्यवेक्षक मेघवाल की मौजूदगी में बैठक बुलाई गई है, जिसमें चुनाव अधिकारी, सह चुनाव अधिकारी, मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष समेत प्रांतीय पदाधिकारी, सभी जिलाध्यक्ष और प्रांतीय पार्षद शिरकत करेंगे। उधर, प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में कई दिग्गज रेस में हैं, लेकिन तमाम समीकरणों को देखते हुए पूर्व मंत्री बंशीधर भगत का नाम लगभग तय हो गया है। गुरुवार को होने वाली बैठक में उनके नाम पर मुहर लगने के बाद वह नामांकन की औपचारिकताएं पूरी करेंगे।

Advertisements