• इंदिरा गांधी की इमरजेंसी के विरोध में बनी जनसंघ है आज की भाजपा

  • मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने टोल फ्री नंबर 8980808080 किया जारी 

  • सेतु हैं सरकार और जनता के बीच कार्यकर्ता: सीएम

  • कानून व्यवस्था सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून में सदस्यता अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा  कि उन सब लोगों को भाजपा के साथ जोड़ना है जिन्होंने भाजपा को वोट दिया है और भाजपा को बुलंदियों तक पहुँचाया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भाजपा के सदस्यता अभियान के लिए टोल फ्री नंबर 8980808080 का शुभारंभ किया। उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा कि पंडित नेहरू के मंत्रिमंडल से लियाकत समझौते के विरोध के चलते उन्होंने इस्तीफा दिया और जनसंघ की स्थापना की। 1977 में इंदिरा गांधी के इमरजेंसी लगाने के विरोध में बनी जनसंघ पार्टी से होते हुए आज की भारतीय जनता पार्टी बनी। पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में पार्टी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परचम लहरा रही है।

इन 12 लोगों ने ली भाजपा की सदस्यता 

सुवर्द्धन शाह, आरपी अरोड़ा, राकेश बहुगुणा, चंद्र बल्लभ मिश्रा, कुंज बिहारी शाह, रमनलाल, गिरीश कुमार, मेजर जनरल (से.नि.) ओपी सब्बरवाल, राजेंद्र सिंह, सूबेदार मेजर (से.नि.) प्रह्लाद सिंह, रोशन धस्माना, राजेश नवानी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार और जनता के बीच सेतु का काम करते हैं कार्यकर्ता। उन्होंने सदस्यता अभियान की चर्चा करते हुए उन्होंने लोकसभा चुनाव और पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा के मतदाताओं को जो अभी तक पार्टी के सदस्य नहीं हैं को पार्टी से जोड़ने का अभियान बताते हुए कहा कि उन सब लोगों को भाजपा के साथ जोड़ना है जिन्होंने भाजपा को वोट दिया है। इस दौरान भाजपा की 12 पूर्व आईएएस, ओएनजीसी के पूर्व अधिकारियों व कर्मचारियों और अन्य क्षेत्र के कई लोगों ने पार्टी की सदस्यता ली। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी सरकार उत्तराखंड की दीर्घकालीन आवश्यकताओं को देखते हुए काम कर रही है। 

उन्होंने कहा कि सरकार 10, 20 और 50 साल बाद की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बना रही हैं। वर्षा जल संग्रहण देहरादून, पिथौरागढ़, गैरसैंण में बनाए जाने वाले जलाशयों का उन्होंने जिक्र किया। वर्षा जल संरक्षित कुल आबादी की लगभग 60 प्रतिशत जनता वर्षा जल का उपयोग कर पाएगी। उन्होंने बद्रीनाथ एवं केदारनाथ के मास्टर प्लान का जिक्र करते हुए कहा कि आने वाले 50 साल में जैसी आवश्यकताएं होनी है उसी के अनुरूप हम व्यवस्थाएं बना रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ और बदरीनाथ के लिए मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। उसके माध्यम से अगले 50 वर्षों की जरूरतों के हिसाब से व्यवस्था बनाई जाएगी। उत्तराखंड के कुछ मंदिरों को एनआरआई की मदद से सुधार कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने देहरादून में बनाई जाने वाली साइंस सिटी, जिसके लिए 142 करोड़ रुपये  स्वीकृत किया जा चुका है तथा सरकार की अन्य योजनाओं को भी बताया।

उन्होंने साफ कहा कि जिस तरह की घटना शुक्रवार को हुई, उसकी पुनरावृत्ति बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। असामाजिक लोगों के द्वारा प्रदेश का माहौल खराब करने पर कहा कि लॉ एंड ऑर्डर कायम रखना हमारी टॉप सर्वोच्च प्राथमिकता है। कानून व्यवस्था खराब करने वाले किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। इस दौरान बाइक के जरिये देश का भ्रमण करने वाले दीवान सिंह को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। उन्होंने देशभर में घूमकर भाजपा का प्रचार किया है। दीवान सिंह भाजपा के सभी चुनावों में प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करते हैं।

इस दौरान प्रदेश सदस्यता प्रमुख और राजपुर से विधायक खजान दास ने बताया कि पूरे प्रदेश में 11235 बूथ है प्रत्येक बूथ पर 100 नए सदस्य बनाने का लक्ष्य है। महानगर अध्यक्ष  विनय गोयल ने कहा की वर्तमान 9222 सक्रिय सदस्यों की सदस्यता अब तभी रहेगी जब भी नए सदस्य बनाएंगे। आशा है सक्रिय सदस्यों की भी संख्या और बढ़ेगी। महानगर अध्यक्ष ने मिस कॉल द्वारा सदस्य बनने की प्रक्रिया को भी स्लाइड शो द्वारा समझाया।

मुख्यमंत्री के संबोधन से पहले टिहरी से सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, मेयर ऋषिकेश अनीता मंगाई, विधायक धर्मपुर विनोद चमोली, विधायक कैंट हरबंस कपूर, विधायक रायपुर उमेश शर्मा काऊ, विधायक सहसपुर सहदेव पुंडीर, विधायक मसूरी गणेश जोशी, जिला अध्यक्ष शमशेर पुंडीर, महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, जिला सदस्यता प्रमुख प्रेम चंद जैन एवं महानगर सदस्यता प्रमुख रविंद्र कटारिया ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महामंत्री अनिल गोयल ने किया।

Advertisements