• तीन अधिकारियो को देना पड़ेगा  25 -25 हजार का जुर्माना का दण्ड 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : आरटीआई के तहत सूचना उपलब्ध नहीं कराना श्रीनगर के हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल विश्वविद्यालय के तीन अधिकारीयों को महंगा पड गया। जिस पर केन्द्रीय लोक सूचना आयोग ने 25-25 हजार का जुर्माना लगाया है।

दरअसल देहरादून निवासी अमित कुमार ने 13 साल बाद भी अपनी स्नातक की डिग्री न मिलने पर आरटीआई के जरीये सूचना मांगी थी। लेकिन विवि प्रशासन द्वारा सूचना उपलब्ध न कराने पर अमित केन्द्रीय सूचना आयोग चले गये। आयोग द्वारा मामले की जांच की गई ।

जांच रिपोर्ट में विवि के सूचना अधिकारी, उपकुलसचिव परीक्षा एचएम एवं उपाधी विभाग कार्यालय के अधीशक को दोषी पाते हुए 25-25 हजार का जुर्माना लगाया है। गढवाल विश्वविद्यालय के कुलसचीव डॉ. ए. के. झा ने बताया कि जॉच की रिपोर्ट को रिव्यू करने के लिये कोर्ट में ले जाया जायेगा जहॉ एक बार के लिये मामले में लिप्त अधिकारीयों को माफ करने के लिए अपील की जायेगी।

Advertisements