प्रतिष्ठित नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार देहरादून जिले में कालसी विकासखंड की नेबी ग्रामसभा को 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

प्रदेश से इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों के लिए नौ पंचायतों का अलग-अलग वर्ग में चयन हुआ है। इन सभी पंचायतों को दिल्ली में 23 अक्तूबर को होने वाले समारोह में अवार्ड दिया जाएगा।

एचसी सेमवाल, अपर सचिव एवं निदेशक पंचायत 

देहरादून : पंचायतों में प्रतिष्ठित नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार इस बार देहरादून जिले में कालसी विकासखंड की नेबी ग्रामसभा को दिया गया है। पंचायत मंत्रालय हर साल यह पुरस्कार राज्य की किसी एक ग्राम पंचायत को ग्रामसभा के बेहतरीन काम के लिए प्रदान करता है।

वहीं दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के लिए पिथौरागढ़  की कुसौली, उत्तरकाशी की धारी पल्ली (नौंगांव ), देहरादून जिले की बमराड़ा (कालसी विकासखंड), देहरादून जिले की ही डाकपत्थर पंचायत सहित बेहतरीन जिला पंचायत का पुरस्कार – ऊधमसिंह नगर और बेहतरीन क्षेत्र पंचायत – नरेंद्रनगर (जिला टिहरी) और पोखरी (जिला चमोली) ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है।  इन सभी को आगामी 23 अक्टूबर को दिल्ली में एक समारोह के दौरान ये पुरस्कार दिए जाएंगे। 

प्रतिष्ठित नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार कालसी विकासखंड को मिलेगा। इस ग्राम पंचायत में कुल 267 परिवार रहते हैं। पंचायत के दो हिस्से हैं और आसपास के क्षेत्र का मुख्य बाजार साहिया भी इसी ग्राम पंचायत का हिस्सा है। ग्राम पंचायत ने दुर्गम के इस क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। ग्राम पंचायत ने साहिया बाजार में आठ सीसीटीवी कैमरे लगाए हुए हैं। इसके अलावा यहां स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था है। वन्य जीवों के आतंक से बचने के लिए पूरे इलाके में स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था होने से यह ग्राम पंचायत बहुत हद तक बाघ, तेंदुआ आदि वन्यजीवों का अतिक्रमण काम हो गया है।

इतना ही नहीं प्रतिष्ठित नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार से नवाज़े जाने वाले इस ग्राम पंचायत ने अपने लेखों में भी पारदर्शिता बरती और ग्राम पंचायत के आय व्यय को पंचायत भवन में सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित किया। ग्राम पंचायत अभी ई-पंचायत का भले ही इंटरनेट के अभाव के कारण अभी पूरा फायदा नहीं उठा पाई है। लेकिन पंचायत के पास कंप्यूटर भी हैं, लोगों को उम्मीद है इंटरनेट कनेक्टिविटी के आने के बाद सबकुछ ऑनलाइन हो जायेगा। इतना ही नहीं जनजातीय इलाके में होने की बाद भी इस ग्राम पंचायत ने नशे के खिलाफ भी जो अभियान छेड़ा हुआ है वह काबिलेतारीफ़ है। प्रतिष्ठित नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार के लिए चयनित इस ग्राम पंचायत ने साहिया बस स्टैंड में यात्री शेड, पेयजल, शौचालय का भी इंतजाम किया है।

Advertisements