राज्य सरकार ने हरिद्वार जिले के सभी पशु कत्लखाने बंद करने के दिए आदेश

0
241

विवाद को शांत कराने के लिए सरकार ने ठीक कुंभ मेला के दौरान उठाया महत्वपूर्ण कदम 

जिले के सभी नगर निगमों, नगर पालिका और नगर पंचायतों की ओर से स्लॉटर हाउस को जारी एनओसी हुई निरस्त

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून । राज्य सरकार ने हरिद्वार जिले में स्लॉटर हाउस पर रोक लगा दी है। वर्तमान में मंगलौर में पालिका के साथ पीपीपी मोड में स्लॉटर हाउस तकरीबन बनकर तैयार हो चुका है। इसको लेकर उठे विवाद को शांत कराने के लिए सरकार ने ठीक कुंभ मेला के दौरान यह कदम उठाया है।

सचिव शहरी विकास शैलेश बगौली की ओर से जारी आदेश के अनुसार, विभाग ने हरिद्वार जिले के सभी नगर निगमों, नगर पालिका और नगर पंचायतों की ओर से स्लॉटर हाउस को जारी एनओसी निरस्त कर दी है। हरिद्वार जिले में इस तरह की एक मात्र एनओसी मंगलौर नगर पालिका की तरफ से पीपीपी मोड में निर्माणाधीन स्लॉटर हाउस के लिए दी गई थी। जो तकरीबन बनकर तैयार हो चुका है, इस तरह अब इस स्लॉटर हाउस का संचालन खटाई में पड़ गया है।

गौरतलब हो कि इस विषय को लेकर हरिद्वार की राजनीति लंबे समय से गरमाई हुई थी, भाजपा विधायक स्लॉटर हाउस की एनओसी निरस्त करने के लिए दबाव बनाए हुए थे। पिछले साल प्रदेश सरकार ने एक्ट में संशोधन करते हुए, निकायों को एनओसी निरस्त करने का अधिकार दिया था। लेकिन निकाय के स्तर से इस पर कोई पहल न होने से अब सीधे विभाग ने ही पूरे जिले में स्लॉटर हाउस पर रोक लगा दी है।