देश के विकास में बड़ी भूमिका निभा रहा है टिहरी : मुख्यमंत्री

0
506

टिहरी महोत्सव में शामिल हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र 

मानव वन्यजीव संघर्ष के मामलों के राहत निधि के चेक किए वितरित

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

 

जनता की समस्याओं के समाधान के लिए राज्य सरकार संकल्पबद्धः मुख्यमंत्री

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शुक्रवार को “आपकी सरकार आपके द्वार“ के तहत डोईवाला विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत वन विभाग से संबंधित समस्याओं के समाधान हेतु आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर वन्यजीव संघर्ष के मामलों में राहत वितरण निधि के चेक वितरित किए गए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि वन विभाग से संबंधित क्षेत्र के लोगों की समस्याओं के समाधान पूरी पारदर्शिता के साथ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समस्या का समाधान समय से हो तभी उसका सही लाभ मिल पाता है। राज्य सरकार आपकी समस्याओं के निराकरण के लिए संकल्पबद्ध है।

उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि प्रदेश को अच्छी सुविधाएं और अच्छी सेवाएं प्रदान की जाएं। क्षेत्र में जनसंख्या का दबाव लगातार बढ़ रहा है।  सूर्यधार योजना के तैयार होने के बाद 29 गावों को ग्रेविटी बेस्ड पानी उपलब्ध होगा। सौंग का कार्य भी लगभग अंतिम चरण में है।

उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि सुश्वा नदी को बारह मास साफ पानी उपलब्ध कराया जा सके और रिस्पना नदी को भी पुनर्जीवित करना सरकार की प्राथमिकताओं में है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य होने के नाते प

शुओं के प्रति हमारा नैतिक कर्तव्य है। पशुधन का उपयोग करने के बाद हमें उन्हें छोड़ना नहीं चाहिए। पशु पक्षी पेड़ पौधे हमारे सिस्टम का ही हिस्सा है। प्रकृति का संरक्षण करते हुए जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाना बहुत ही आवश्यक है। इस अवसर पर प्रमुख वन संरक्षक जयराज भी उपस्थित थे।

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत  शुक्रवार को अठूरवाला, देहरादून में आयोजित तृतीय टिहरी महोत्सव में सम्मिलित हुए। आयोजकों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि देश और प्रदेश के विकास में टिहरी बहुत बड़ी भूमिका निभा रहा है। टिहरी झील ऊर्जा और पानी देने का काम कर रही है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि टिहरी के लोगों का बहुत बड़ा त्याग किया है, जिसके कारण देश जगमगा रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्व में टिहरी में आयोजित होने वाले बसंत पंचमी के मेले को फिर से शुरू किया गया है। इससे देश-विदेश में टिहरी की अच्छी पहचान बनी है। विदेशी पर्यटकों की संख्या भी बढ़ी है। टिहरी के विकास में योगदान के लिए बहुत से निवेशकों को आमंत्रित किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डोबरा-चांटी पुल के मार्च तक शुरू किए जाने के प्रयास चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार दूरस्थ क्षेत्रों में विकास की किरण पहुंचाने एवं टिहरी को पुनः आबाद करने के लिए संकल्पबद्ध है। टिहरी को देश का सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थल बनाने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। टिहरी झील में सी-प्लेन चलाए जाने की योजना पर कार्य चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गौचर और चिन्यालीसौड़ के लिए हेली सेवा शुरू की जा रही है। उन्होंने कहा कि पिथौरागढ़ में एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन विकसित किया जा रहा है।