भाजपा पर टिकट वितरण में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने का लगाया आरोप

रुद्रप्रयाग । अपने समर्थकों, भाजपा के कईं पदाधिकारियों की मौजूदगी में केदारनाथ क्षेत्र की पूर्व विधायक आशा नौटियाल भाजपा हाईकमान के फैसले के विरूद्ध निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया। इस बाबत आयोजित एक बैठक में तय किया गया कि निर्दलीय प्रत्याशी आशा नौटियाल के लिए पूरे मनोयोग से कार्य किया जायेगा। भाजपा हाईकमान से भी मांग की गई कि कार्यकर्ताओं की भावनाओं के अनुरूप टिकट वितरण पर पुनः विचार किया जाय।

मंदाकिनी घाटी में पूर्व विधायक आशा नौटियाल के समर्थकों ने बड़ी संख्या में मौजूदगी दर्ज कराते हुए बैठक का आयोजन किया, जिसमें भाजपा के कईं पदाधिकारी भी उपस्थित थे। वक्ताओं ने केदारनाथ क्षेत्र में भाजपा के टिकट वितरण पर कड़ा रोष जताते हुए कहा कि जमीनी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर स्वार्थी लोगों को आगे किया जा रहा है, जो भाजपा के लिए हितकर नहीं है। उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक आशा नौटियाल ने कहा कि उन्होंने जीवन पर्यन्त भाजपा की मजबूती के लिए काम किया, इसके बावजूद भी पार्टी ने टिकट वितरण में कार्यकर्ताओं की भावनाओं की अनदेखी की है। इससे समाज में संदेश जा रहा है कि भाजपा अपने उद्देश्यों से भटक गई है।

पूर्व विधायक ने कहा कि यदि बूथ लेवल के किसी कार्यकर्ता को भी भाजपा हाईकमान टिकट देती तो तहदिले सम्मान किया जाता, लेकिन इस सबके विपरित टिकट वितरण में जो अनदेखी की गई है, वह न तो पार्टी हित में है और ना ही केदारनाथ क्षेत्र की जनता के लिए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को तवज्जो दिया जा रहा है, जो अपनी कमियों छिपाने के लिए भाजपा का सहारा ले रहे हैं। इसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। श्रीमती नौटियाल ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं एवं केदारनाथ क्षेत्र की जनता का दबाव को देखते हुए मैंने निर्दलीय जनता के बीच जाने का मन बनाया है।

पूर्व प्रमुख फते सिंह रावत ने तल्ख तेवर में कहा कि कार्यकर्ताओं की उपेक्षा स्वीकार्य नहीं होगी। उन्होंने कहा कि बतौर निर्दलीय प्रत्याशी पूर्व विधायक आशा नौटियाल के समर्थन में केदारनाथ क्षेत्र की जनता एकमत है और प्राण-प्रण से निर्दलीय प्रत्याशी नौटियाल के लिए कार्य करेंगे। उन्होंने उपस्थित कार्यकर्ताओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि विचलित होने की जरूरत नहीं है। एक-एक कार्यकर्ता को गांव-गांव व घर-घर जाकर भाजपा की उपेक्षा का प्रतिकार करना होगा।

भाजपा जिला महामंत्री गजेन्द्र चौधरी ने साफ किया कि पार्टी हाईकमान ने कार्यकर्ता एवं संघ की सर्वे के विरूद्ध पार्टी का टिकट दिया है, जिस कार्यकर्ता स्वीकारने के लिए तैयार नहीं हैं और जरूरत पड़े तो पार्टी से इस्तीफा देने में भी नहीं हिचकेंगे। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि वक्त रहते हाईकमान को केदारनाथ विधानसभा टिकट वितरण में पुनर्विचार करना होगा, अन्यथा पार्टी को इसका खामियाजा भुगतना होगा।

इस मौके पर पूर्व भाजपा जिला महामंत्री गजेन्द्र चैधरी, प्रमुख फते सिंह रावत, कुंवर सिंह नेगी, शत्रुघ्न नेगी, वरदीप जग्गी, भगत कोटवाल, दिनेश तिवारी, दर्शनी पंवार, रामचन्द्र गोस्वामी, प्रबल नेगी, श्रीनंद जमलोकी, लक्ष्मी प्रसाद भट्ट, विजया असवाल, अनीता रावत, विजय जमलोकी, लक्ष्मण बत्र्वाण, दीपा जुगराण, बलवीर लाल, अंजना रावत, रघुवीर लाल, मातबर राणा सहित कई मौजूद थे।

Advertisements