• ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की मां वादे पूरा न होने पर विफरीं 

हल्द्वानी : कृषि मंत्री सुबोध उनियाल द्वारा भाजपा कार्यालय में चलाये जा रहे जनता दरबार में जहर खाकर जान देने वाले ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे को घोषणा के बावजूद सरकारी मदद न मिलने से परिवार बेहद दुखी है। काठगोदाम में रविवार को पत्रकारों से बातचीत में दिवंगत प्रकाश पांडे के माता-पिता ने बहू को नौकरी देने और बच्चों की मुफ्त पढ़ाई का वादा पूरा न होने पर आत्मघाती कदम उठाने की चेतावनी दे डाली।

परिजनों का कहना है कि प्रकाश की मौत के बाद उनके परिवार की आर्थिक स्थित दयनीय हो चुकी है। ट्रांसपोर्टर प्रकाश की मां देवकी देवी ने कहा कि वर्तमान में उनका परिवार सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। बेटे की मौत के वक्त प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधि पहुंचे थे। उन्होंने बहू को नौकरी और परिवार को 12 लाख रुपये देने का वादा किया था। केवल दो लाख की मदद ही सरकार से मिल पाई है।

एक महीना बीतने के बाद भी मदद के लिए कोई भी सुध लेने नहीं पहुंचा। कहा कि 15 फरवरी तक सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किए तो वह बेटे की तरह कदम उठाने को मजबूर होंगे। मृतक प्रकाश की पत्नी कमला पांडे ने कहा कि आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते परिवार का गुजारा और बच्चों की स्कूल फीस देना मुश्किल हो गया है। उन्होंने सरकार से हाथ जोड़कर परिवार की मदद करने की गुहार लगाई।

Advertisements