सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए सर्च एवं रेस्क्यू ऑपरेशन में तेजी सुनिश्चित

0
316

सुरंग में करीब 136 मीटर तक मालवा किया गया निस्तारित 

आईटीबीपी के संबंधित अधिकारी से  ऋषिगंगा में जवानों की तैनाती बनाए रखने के निर्देश

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

38 शव बरामद 12 की पहचान हुई और 26 अज्ञात : डीएम चमोली 

तपोवन परियोजना की सुरंग में फंसे 35 लोगों को बाहर निकालने के लिए शनिवार को हैवी ड्रिल मशीन से सुरंग के अंदर ड्रिल का कार्य शुरू कर दिया गया है। खबर लिखे जाने तक अभी तक सुरंग में लगभग 135 मीटर तक मलबा हटा दिया गया है। शनिवार को मलबे से एक भी शव बरामद नहीं हुआ है। अभी भी 166 लोग लापता और 38 शव बरामद हुए हैं। सुरंग से मलबा बाहर लाने के लिए दो डंपर लगाए जाने से अब मलबा हटाने के कार्य में तेजी आ गई है। वहीं, सुरंग में ड्रिल के जरिए खोज-बचाव कार्य भी जारी है। जिला मजिस्ट्रेट चमोली के अनुसार अब तक कुल 38 शव बरामद किए गए हैं। जिनमें से 12 की पहचान हो चुकी है और 26 अज्ञात हैं।
जोशीमठ : गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन ने आईआरएस कैंप कार्यालय में तपोवन आपदा के राहत, बचाव एवं खोजबीन कार्य में तैनात विभाग,संस्थान के संबंधित अधिकारियों के साथ टनल एवं खोज बचाव कार्य प्रगति की बैठक करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए सर्च एवं रेस्क्यू ऑपरेशन में तेजी लाना सुनिश्चित करें। 
उन्होंने क्रमवार राहत एवं बचाव कार्य में जुटी जिला प्रशासन, आर्मी, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, एनटीपीसी, पुलिस प्रशासन आदि की अद्यतन कार्यों की जानकारी लेते हुए संबंधित अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
उन्होंने रेस्क्यू कार्य में आ रहे समस्या के बारे में भी जानकारी ली। तपोवन बांध बैराज के संवेदनशील स्थल पर रेस्क्यू दल को जोखिम नहीं लेने को कहा, उक्त स्थल पर जीवंत होने की संभावना नहीं है, स्थिति सामान्य होने पर सर्च करना सुनिश्चित करेंगे।

एनटीपीसी के जीएम ने अवगत कराया सुरंग में करीब 136 मीटर तक मालवा निस्तारित किया गया है। साथ ही बताया कि ड्रिलिंग के कार्य प्रारंभ किया गया है, करीब 10 से 12 घंटे में टनल के भीतर की वस्तुस्थिति संभवत: ज्ञात हो सकेगा।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के कार्य प्रगति की जानकारी लेते हुए संबंधित अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। साथ ही आईटीबीपी के संबंधित अधिकारी को ऋषिगंगा में जवानों की तैनाती बनाए रखने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर डीआईजी पुलिस नीरू गर्ग, जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, डीआईजी एसडीआरएफ मोहसिन शाहेदी, डीसी एसडीआरएफ अजय भट्ट, डीसी एनडीआरएफ आदित्य प्रसाद, लेफ्टिनेंट कर्नल आर्मी विजय सिंह, जीएम आर पी अहेवाल, सहायक सेनानी एस. सिंह, सीडीओ हंशा दत्त पांडे सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।