नई टिहरी : श्रीनगर में आतंकियों से लोहा लेते हुए 21वीं राष्ट्रीय राइफल में तैनात टिहरी का लाल शहीद हो गया है। शहीद का पार्थिव शरीर सोमवार सुबह को उनके पैतृक गांव पहुंचेगा। सूचना पर शहीद सैनिक के परिजन भी गाजियाबाद (यूपी) से गांव पहुंच गए हैं।

सैनिक के शहीद होने की खबर के बाद पूरे गांव में मातम छाया है। जाखणीधार ब्लॉक के स्वाड़ी कांडी गांव निवासी सैनिक प्रकाशचंद कुमांई (26 वर्ष) पुत्र कुशाल सिंह डेपुटेशन पर 21वीं राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे। बीती रात श्रीनगर में आतंकियों के खिलाफ आपरेशन के दौरान वह शहीद हो गए। सहायक सैनिक कल्याण अधिकारी कै. दीवान सिंह बागड़ी ने बताया कि सैनिक प्रकाशचंद की मूल तैनाती 6 मैकेनाइज इन्फेंट्री में थी, जो वर्तमान में श्रीनगर में डेपुटेशन पर 21वीं राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे।

वर्ष 2012 को वह सेना में भर्ती हुए। प्रकाशचंद की बीते अक्टूबर में अल्पना रावत के साथ शादी हुई थी। प्रकाश तीन भाइयों में दूसरे नंबर के थे। शहीद का बड़ा भाई पुलिस में तैनात है, जबिक छोटा भाई एचएम कर रहा है। सैनिक के पार्थिव शरीर को सेना के वाहन से गांव पहुंचेगा।

Advertisements