देश की 12 एएनएम, 12 नर्सिंग स्टाफ एवं 3 लेडी हेल्थ विजिटर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा पुरस्कार से नवाज़ा जायेगा 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : नर्सिंग क्षेत्र का सर्वोच्च पुरस्कार राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्कार 2019 के लिए जिला अस्पताल के गांधी अस्पताल में कार्यरत सिस्टर सुनीता रावत गोयल को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए चयनित किया गया है। देश की 12 एएनएम, 12 नर्सिंग स्टाफ एवं 3 लेडी हेल्थ विजिटर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दिसंबर के पहले सप्ताह में राष्ट्रपति भवन में आयोजित भव्य कार्यक्रम में सम्मानित करेंगे।

सीएमएस डा. बीसी रमोला ने बताया कि इंडियन नर्सिंग काउंसिल की ओर से सिस्टर सुनीता रावत का चयन कर लिया गया है। 12 मई को पहले यह सम्मान समारोह होना था, लेकिन आचार संहिता लगे होने के चलते कार्यक्रम नहीं हुआ।

अब दिसंबर माह में उन्हें राष्ट्रपति के हाथों सम्मान स्वरूप उन्हें 50 हजार रुपये नगद, प्रशस्ति पत्र और मेडल दिया जाएगा। बताया कि सिस्टर सुनीता काफी कर्मठ स्टाफ है। वह पर्वतीय एवं मैदानी इलाकों में अपनी 20 साल की सेवा के दौरान अब तक 60 हजार नेत्र रोगियों के ऑपरेशन में सहयोग कर चुकी है।

वहीं, गांधी अस्पताल में नेत्र रोग विभाग एवं महिला विंग की स्थापना में उनका बहुमूल्य सहयोग रहा है। उनकी देखरेख में यहां 2 हजार शिशुओं का जन्म एवं 5 हजार आंखों के ऑपरेशन हो चुके हैं।

इस सर्वोच्च सम्मान के लिए राज्य से सिस्टर सुनीता के चयन पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, स्वास्थ्य सचिव नितेश झा, प्रभारी सचिव डा. पंकज पांडेय, डीजी हेल्थ डा. अमिता उप्रेती, सीएमओ डा. मीनाक्षी जोशी, सीएमएस डा. बीसी रमोला अस्पताल के डाक्टरों एवं स्टाफ ने खुशी जाहिर की है।

Advertisements