वीडियो में देखिए DIG ने इन तीन पुलिस कर्मियों को किया सस्पैंड, जिन्होंने उत्तराखंड की पुलिस की साख को लगाया बट्टा

0
292

DIG अरुण मोहन जोशी के घटना के बाद पुलिस कर्मियों से जनता साथ शालीनता से पेश आने के निर्देश

DIG ने वीडियो में दिखाई से रहे एक दरोगा और दो सिपाहियों को किया सस्पेंड

DIG अरुण मोहन जोशी ने पुलिस की शिकायत के साथ वीडियो मिलने के बाद की कार्रवाई, तीन दिन में मांगी जांच रिपोर्ट 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
पुलिस कर्मियों को जनता साथ शालीनता से पेश आने के निर्देश दिए गए हैं। जनता से बेवजह किसी भी तरह की अभद्रता पर सख्त कार्रवाई की जाएगी : अरुण मोहन जोशी
  डीआईजी/एसएसपी
  देहरादून, उत्तराखंड
देहरादून । जनता से अभद्रता और मारपीट करने के दो अलग-अलग मामलों में वीडियो सहित शिकायत के बाद DIG अरुण मोहन जोशी ने देहरादून की नेहरू कॉलोनी थाने के एक दरोगा और ऋषिकेश कोतवाली में तैनात दो सिपाहियों को सस्पेंड क्या किया कि देहरादून जनपद के ऐसे पुलिस कर्मियों को सांप सूंघ गया है जो आए दिन जनता से अभद्रता ही नहीं बल्कि उन्हें निरीह जानवर समझकर उनका उत्पीड़न करते रहे थे।
मामले में DIG अरुण मोहन जोशी को दोनों वीडियो में जनता से अभद्रता किए जाने के पुख्ता प्रमाण मिलने के बाद इस तरह की कार्रवाई किए जाने से पुलिस महकमे में भूचाल सा आ गया है। DIG को भेजे वीडियो के वायरल हो जाने के बाद देहरादून जिले सहित प्रदेश की जनता ने DIG द्वारा की गई कार्रवाई को सही ठहराते हुए इसे पुलिस को सबक बताया है जो अंग्रेजों के जमाने की पुलिस अपने को समझे हुए थे। साथ ही मानवाधिकार संगठनों ने भी DIG की इस कार्रवाई को जनता के साथ हो रहे पुलिस के जुल्म से राहत बताया है। 
गौरतलब हो कि DIG अरुण मोहन जोशी को शिकायतकर्ता कैलाश डोभाल ने गुरुवार को वीडियो भेजा था। वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा कि बाइक में एक परिवार के तीन लोग हैं। पुलिस टीम बाइक सवार को रोककर चालान काटने की कार्रवाई कर रही है। इतना ही नहीं वीडियो में दिख रहा है कि नेहरू कालोनी थाने के दरोगा देवेंद्र गुप्ता बाइक सवार से गाली-गलौज व अभद्रता कर रहे हैं। वीडियो देखने के बाद जोशी ने मामले की जांच के आदेश दिए। कार्रवाई करते हुए दरोगा को निलंबित कर दिया गया। मामले की जांच सीओ नेहरू कालोनी पल्लवी त्यागी को मामले सौंपी गई है।
वहीं दूसरे शिकायती वीडियो में ऋषिकेश कोतवाली से जुड़े मामले में कांस्टेबल संजय सेजवाल और नीरज मास्क न पहनने पर एक व्यक्ति को घसीट कर उससे साथ मारपीट का आरोप है। जबकि एक प्रत्यक्षदर्शी द्वारा पुलिस कर्मियों से ऐसा न करने और माफ़ी मांगे जाने के बाद भी उस पर चांटे रसीद करने और उसे धमकाने का भी दृश्य वीडियो में कैद हो गया है। DIG जोशी ने इस प्रकरण का वीडियो वायरल होने के बाद मामले की जांच सीओ ऋषिकेश को सौंपी है।