देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

हरिद्वार । तीन करोड़ के लोन घोटाले में फंसे एसबीआइ हरिद्वार में तैनात रहे चीफ मैनेजर सुजीत लोहनी के घर सीबीआइ ने छापेमारी की। इस दौरान घर से प्रॉपर्टी और निवेश से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए। साथ ही बैंक के तीन लॉकरों को खंगालते हुए सीबीआइ ने लाखों रुपये के गहने और अन्य संपत्ति का ब्योरा जुटाया। इसके अलावा सीबीआइ ने लोन फर्जीवाड़े से जुड़ी कई फाइलें भी अपने कब्जे में ले ली हैं।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शिवालिक नगर शाखा में 2015 में तीन करोड़ से ज्यादा का लोन घोटाला प्रकाश में आया था। इस मामले में दून सीबीआइ ने 31 मई 2018 को तत्कालीन चीफ मैनेजर सुजीत लोहनी समेत 15 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज किया था। इस बीच एसबीआइ ने लोहनी को निलंबित कर दिया। मंगलवार को अचानक सीबीआइ के टीम डीएसपी इंदुमोहन नेगी के नेतृत्व में आरोपित बैंक मैनेजर के हरिद्वार के मीना एन्क्लेव स्थित घर पर पहुंची। जहां टीम ने तीन घंटे से ज्यादा समय तक छानबीन की।

सीबीआइ टीम ने घर से प्रॉपर्टी, निवेश, बैंक पास बुक समेत अन्य जरूरी दस्तावेज कब्जे में ले लिए। इस दौरान आरोपित से भी कई मामलों में पूछताछ कर जानकारी जुटाई गई। यहां से टीम एसबीआइ की शिवालिकनगर शाखा पहुंची। जहां टीम ने कर्मचारियों से जानकारी जुटाने के साथ ही लोहनी के समय स्वीकृत हुए बैंक लोन से जुड़ी फाइलों को कब्जे में लिया। यहां लोहनी और परिवार के नाम पर दर्ज तीन लॉकर भी तलाशे गए। सीबीआइ एसपी अखिल कौशिक के मुताबिक, कार्रवाई देर शाम तक जारी रही। इस दौरान आरोपित के घर से महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए गए हैं। बैंक लॉकर में मिले प्रॉपर्टी के दस्तावेजों का आकलन किया जा रहा है। टीम के वापस पहुंचने के बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकेगा।

12 लोन में की थी गड़बड़ी 

एसबीआइ शिवालिकनगर शाखा में सुजीत लोहनी 2015 में ब्रांच मैनेजर रहे। इस दौरान लोहनी ने 12 से ज्यादा बैंक लोन स्वीकृत किए थे। मगर, अधिकांश लोन नियम विरुद्ध बांटे गए। करीब तीन करोड़ नौ लाख का फर्जीवाड़ा सीबीआइ ने जांच में पकड़ा था। इस बीच एक ही परिवार के लोगों तथा रिश्तेदारों को भी लोन बांटने की बात सामने आई थी। अभी इस मामले की जांच जारी है।

इनके खिलाफ भी मुकदमा 

सीबीआइ ने सुजीत लोहनी के अलावा शिवालिक कॉलोनी निवासी विजय कुमार कुशवाह, रेखा कुशवाह, विमलेश कुशवाह, अंकिता शर्मा, अजय कुमार, नीतू सिंह, संजय कुमार, रंजीत कुमार, दिशा, कमल सिंह, बृजेश खुराना, रितू अलखानिया, विमल कुमार, अश्वनी कुमार आदि के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

Advertisements