अपर मेला अधिकारी पर नाराज संतों का हमला

0
254

कुंभ के अवस्थापना कार्यों में हो रही देरी से नाराज थे संत

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

हरिद्वार। हरिद्वार में कुंभ की तैयारियों में जुटे अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह पर हमला होने का समाचार आ रहा है। बताया जा रहा है कि बृहस्पतिवार शाम पंच निर्मोही अणि अखाड़े के बैरागी संतों ने अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह पर हमला किया है। हमले में हरबीर सिंह की आंख और शरीर में कई जगहों पर चोट लगी हैं। जानकारी के अनुसार उनकी सुरक्षा में लगा सिपाही भी इस दौरान घायल हुआ है। पुलिस-प्रशासन के द्वारा मारपीट करने वाले संतों को चिह्नित किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि संत कुंभ के अवस्थापना कार्यों में हो रही देरी से नाराज थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कनखल थाना क्षेत्र के बैरागी कैंप में अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह की अखिल भारतीय निर्मोही अणी अखाड़ा में संतों के साथ बैठक होनी थी। हरबीर सिंह रात करीब आठ बजे कैंप पहुंचे। वहां पहले से ही अखाड़ा के कई संत मौजूद थे। बताया जा रहा है कि कैंप में बिजली नहीं होने से बैरागी आक्रोशित हो गए। उनका कहना था कि 12 अप्रैल को उनका पहला शाही स्नान है। इसके बावजूद अब तक मेला प्रशासन के दावों के बावजूद बैरागी कैंप क्षेत्र में संतों के लिए अभी तक अवस्थापना सुविधाएं मुहैया नहीं कराई गई हैं। अब कहीं बिजली के खंभों में तार खींचे जा रहे हैं तो कहीं धूल-मिट्टी से बचाव के लिए सड़कों पर रोड़ी-गिट्टी बिछाई जा रही है। शौचालय और पेयजल जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए संत जूझ रहे हैं। कछुआ चाल से अवस्थापना निर्माण कार्य होने से संतों में नाराजगी है। संतों ने उनके साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए हरबीर सिंह को घेर कर उनके साथ मारपीट कर दी।

सूचना मिलने पर आईजी संजय गुंज्याल, एसएसपी जनमेजय खंडूरी व सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस सहित जिला एवं मेला के अधिकारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और आईजी ने छावनी पहुंचकर संतों से बातचीत की और हरबीर सिंह को वहां से बाहर निकाला।

Previous articleहरिद्वार महाकुम्भ -2021 का हुआ विधिवत श्रीगणेश
Next articleक्या IEA वर्ल्ड एनर्जी आउटलुक में नेट ज़ीरो मार्ग को करेगा रेखांकित ?
तीन दशक तक विभिन्न संस्थानों में पत्रकारिता के बाद मई, 2012 में ''देवभूमि मीडिया'' के अस्तित्व में आने की मुख्य वजह पत्रकारिता को बचाए रखना है .जो पाठक पत्रकारिता बचाए रखना चाहते हैं, सच तक पहुंचना चाहते हैं, चाहते हैं कि खबर को साफगोई से पेश किया जाए न कि किसी के फायदे को देखकर तो वे इसके लिए सामने आएं और ऐसे संस्थानों को चलाने में मदद करें। एक संस्थान के रूप में ‘ देवभूमि मीडिया’ जनहित और लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुसार चलने के लिए प्रतिबद्ध है। खबरों के विश्लेषण और उन पर टिप्पणी देने के अलावा हमारा उद्देश्य रिपोर्टिंग के पारंपरिक स्वरूप को बचाए रखने का भी है। जैसे-जैसे हमारे संसाधन बढ़ेंगे, हम ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने की कोशिश करेंगे। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के सुझाव अवश्य दें। आप अपना सुझाव हमें हमारे ई-मेल editor@devbhoomimedia.com अथवा हमारे WhatsApp नंबर 7579007807 पर भेज सकते हैं। हम आपके आभारी रहेंगे