दुःखद : गंगोत्री विधायक गोपाल रावत का हुआ निधन

0
847

मदन कौशिक ने उनके निधन को बताया पार्टी के लिए अपूर्णीय क्षति

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून : गंगोत्री विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक गोपाल रावत का गुरुवार सांय चार बजे देहरादून के गोविन्द अस्पताल में निधन हो गया। उनके निधन का समाचार सुनकर भाजपा कार्यकर्ताओं व क्षेत्र में शोक की लहर है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने उनके निधन को पार्टी के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए कहा कि इसकी भरपाई सम्भव नहीं है। उन्होंने कहा कि गोपाल रावत क्षेत्र के लोकप्रिय विधायक थे और आम जनता की सम्स्याओ के लिए सदैव तत्पर रहते थे। वह आखिरी क्षण तक भी वर्चुअल माध्यम से जन समस्याओ के हल के लिए आम जनता और अधिकारियो से जुड़े थे। श्री कौशिक ने स्व. गोपाल रावत के निधन की सूचना मिलते गोविंद हॉस्पिटल पहुँच कर उनके परिजनों को सांत्वना दी । उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति और परिजनों को दुःख की घड़ी में शक्ति देने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

पूर्व मुख्यमंत्री और डोईवाला विधायक श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गंगोत्री के विधायक श्री गोपाल सिंह रावत के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दुखद है कि गंगोत्री विधायक श्री गोपाल सिंह रावत जी अब हमारे बीच नहीं रहे। लंबे समय से अस्वस्थ चल रहे गोपाल जी ने आज आखरी सांस ली। पार्टी ने उनके रूप में एक ईमानदार व कर्मठ नेता खो दिया। परमपिता परमेश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और शोक संतप्त परिजनों को धैर्य प्रदान करें। गोपाल जी के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं। ॐ शांति!

गंगोत्री से भाजपा विधायक गोपाल रावत का गुरुवार को देहरादून के एक अस्पताल में कैंसर के इलाज के दौरान निधन हो गया। उनके पीछे परिवार में पत्नी, पुत्र व दो बेटियां है।

मुख्‍यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा कि लंबे समय से गंभीर बीमारी से जूझ रहे गंगोत्री के विधायक श्री गोपाल रावत जी के निधन का दुःखद समाचार सुनकर आहत हूं। उनसे जुड़ी कई यादें मेरे स्मृति पटल पर ताजा हो गईं हैं। मन व्यथित है। बीते 17 अप्रैल को मैं उनकी कुशलक्षेम पूछने देहरादून के एक निजी अस्पताल में गया था।


गंगोत्री विधायक गोपाल रावत के निधन पर पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने गहरा दुःख व्यक्त किया। इस दुःखद क्षण में उन्होंने अपने सभी राजनीतिक, वैवाहिक एवं सामाजिक कार्यक्रम निरस्त कर कहा कि राजनीतिक तौर पर भले ही हम अलग दलों में रहे हो, मगर बचपन के मित्र को खोना हृदयविदारक घटना है। उनके साथ उनकी कई यादें जुड़ी हुई है। अत्यंत भावुक होकर उन्होंने नम आंखों से उन्हें याद किया। इस दुःखद घटना पर उन्होंने परमपिता परमेश्वर से दिवंगत पूण्य आत्मा को जन्नत नसीब करने की प्रार्थना के साथ शोकाकुल परिजनों को संबल प्रदान करने की कामना की है।