रुद्रनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए हुए बंद

0
233

रुद्रनाथ धाम को जाना जाता है चतुर्थ केदार के नाम से 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
गोपेश्वर (चमोली) । चमोली जिले में समुद्रतल से 11808 मीटर की ऊंचाई पर स्थित चतुर्थ केदार रुद्रनाथ धाम के कपाट को शीतकाल के लिए शनिवार प्रातः को बंद कर दिए गए हैं।  रुद्रनाथ धाम के पुजारी महादेव भट्ट ने इस दौरान परंपरा के अनुसार धाम के कपाट बंद कर दिए गए हैं। शनिवार सुबह भगवान रुद्रनाथ की उत्सव डोली शाम तक गोपेश्वर स्थित गोपीनाथ मंदिर में पहुंचेगी।
गौरतलब हो कि भगवान रुद्रनाथ धाम पंच केदार में शामिल हैं, यहां भगवान शिव के मुख के दर्शन होते हैं। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष 18 मई को ब्रह्ममुहूर्त में मंदिर के कपाट खोले गए थे। कोरोना संक्रमण के चलते रुद्रनाथ धाम में इस बार उतनी संख्या में श्रद्धालुओं की संख्या नहीं पहुँच सकी लेकिन फिर भी यहां श्रद्धालु पहुंचे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार शाम तक रुद्रनाथ धाम में 9176 श्रद्धालु बाबा के दर्शनों को पहुंच चुके थे। जबकि श्रद्धालुओं से वन विभाग को लगभग 50 हज़ार रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ। रुद्रनाथ धाम के पुजारी महादेव भट्ट ने बताया कि कपाटबंदी के बाद बाबा की उत्सव डोली सीधे गोपेश्वर स्थित गोपीनाथ मंदिर के लिए प्रस्थान पहुंचेगी अब अगले छह माह बाबा रुद्रनाथ गोपेश्वर के गोपीनाथ मंदिर में भक्तों को दर्शन देंगे।