आरटीओ के फर्जी ट्रांसफर लेटर मामले का खुलासा, प्रापर्टी डीलर गिरफ्तार

0
357

सहस्रधारा हैलीपैड के पास से गिरफ्तार किया गया आरोपी, उसका लैपटाप व मोबाइल फोन जब्त

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून। देहरादून पुलिस ने आरटीओ के फर्जी ट्रांसफर लेटर जारी करने के मामले का खुलासा करते हुए एक प्रापर्टी डीलर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में इस्तेमाल किए गए लेपटॉप और मोबाइल को सीज कर दिया है।
देहरादून आरटीओ दिनेश चन्द्र पटोई ने कोतवाली नगर में तहरीर दी थी कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर उनके स्थानान्तरण के सम्बन्ध में फर्जी आदेश प्रसारित किया है, जिससे उनकी तथा विभाग की छवि धूमिल हो रही है। तहरीर के आधार पर पुलिस उपमहानिरीक्षक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया।
पुलिस टीम ने इस संबंध में वादी आरटीओ पटोई से जानकारी मांगी तो उन्होंने बताया कि उक्त आदेश उन्हें उनके प्रशासनिक अधिकारी संजीव कुमार मिश्रा ने 26 जून 2020 को भेजा था। मिश्रा से जानकारी करने पर उन्होंने बताया कि उक्त आदेश उनको उपायुक्त ने भेजा था।
जब पुलिस ने उपायुक्त से जानकारी मांगी तो उन्होंने बताया कि उक्त आदेश उन्हें कुलवीर सिंह ने भेजा।कुलवीर सिंह के सम्बन्ध में जानकारी करने पर उसका मोबाइल फोन एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही बन्द होने की जानकारी मिली। 
पुलिस के अनुसार कुलवीर निवासी आर्यनगर, डालनवाला की तलाश की गई तो उसे बुधवार को सहस्रधारा हेलीपैड के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उसने फर्जी आदेश को स्वयं द्वारा जारी करना स्वीकार किया, जिसकी निशानदेही पर उसका लैपटाप, जिस पर उक्त फर्जी आदेश को बनाया गया था तथा मोबाइल फोन, जिसके माध्यम से उक्त फर्जी आदेश को उपायुक्त को भेजा गया था, जब्त किया गया।