• रोबोटिक सर्जरी की मुंह व गले के कैंसर के इलाज में भूमिका पर व्याख्यान
  • एम्स ऋषिकेश में सर्जरी के लिए जो रोबोट उपलब्ध : पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

ऋषिकेश : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में शुक्रवार को रोबोटिक सर्जरी की मुहं व गले के कैंसर के इलाज में भूमिका विषय पर अति​थि व्याख्यान आयोजित किया गया। जिसमें एम्स दिल्ली के ईएनटी व हैड एंड नैक सर्जरी विभागाध्यक्ष प्रो. सुरेश चंद शर्मा ने चिकित्सकों को इस बाबत विस्तृत जानकारी दी।

इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि एम्स ऋषिकेश में सर्जरी के लिए जो रोबोट उपलब्ध कराया गया है, वह देश के चुनिंदा मेडिकल संस्थानों में ही उपलब्ध है। निदेशक प्रो. रवि कांत ने बताया कि एम्स दिल्ली के बाद ऋषिकेश एम्स ही ऐसा संस्थान है जहां पर मुहं व गले की रोबोटिक सर्जरी की सुविधा उपलब्ध है।

एम्स निदेशक ने बताया कि संस्थान की ओर से आउटरीच कार्यक्रम के तहत कैंसर को लेकर जनजागरुकता मुहिम शुरू की गई है। जिसके तहत शनिवार को रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, कनखल हरिद्वार में ओंको सर्जिकल कैंप का आयोजन किया जाएगा। जिसमें संस्थान के कैंसर विशेषज्ञ रोगियों का परीक्षण व उपचार किया जाएगा।

इस अवसर पर डायरेक्टर बोर्ड रूम में आयोजित कार्यक्रम में एम्स जोधपुर के प्रेसिडेंट व दिल्ली एम्स के ईएनटी विभागाध्यक्ष प्रो. सुरेश चंद शर्मा ने व्याख्यान दिया, जिसमें संस्थान के विभिन्न विभागों के फैकल्टी व चिकित्सकों ने हिस्सा लिया।

प्रो. शर्मा के अनुसार रोबोटिक सर्जरी करने से कैंसर के मरीज को ऑपरेशन के बाद होने वाली तकलीफें कम हो जाती हैं। साथ ही कैंसर के ठीक होने संभावना पूूरी रहती है। इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने प्रो. शर्मा को संस्थान की ओर से स्म़ृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर रेडियो थैरेपी विभागाध्यक्ष प्रोफेसर मनोज गुप्ता, डा. राजेश पसरीचा, मेडिकल ओंकोलॉजी के डा. अमित शेखावत, डा. दीपक, ईएनटी के डा. मनु मल्होत्रा, डा. अमित, सर्जिकल ओंकोलॉजी के प्रमुख प्रो. एसपी अग्रवाल, डा. पंकज गर्ग, डा. राजकुमार, डा. धर्माराम पूनिया, डा. भियांराम, के अलावा कई रेजिडेंट डाक्टर मौजूद थे।

Advertisements