देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून । कश्मीर पंडित एडवोकेट अशोक कौल  ने कहा कि कश्यप ऋषि की तपस्थली जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त होने से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का खात्मा होगा। कश्मीर में अनेक हिंदू राजाओं के इतिहास का वर्णन राज तरंगिनी में है।

उन्होंने कहा कि अंग्रेजी शासन से मुक्ति के बाद कुछ लोगों ने निहित स्वार्थो की पूर्ति के लिए अनुच्छेद 370 थोपी गई। 35ए जम्मू कश्मीर में अलगाववाद एवं आतंकवाद का कारण बनी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साहसपूर्ण निर्णय से नए युग का आरंभ हुआ है।

कश्मीर पंडित एडवोकेट अशोक कौल ने कहा कि कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचार के बारे में बताया और मोदी सरकार की प्रशंसा की। 

भारत विकास परिषद एवं सजग सांस्कृतिक समिति की ओर से जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370, 35 ए समाप्त होने पर अखंड भारत महोत्सव मनाया गया।

 सम्बोधन से पूर्व बुधवार को जीएमएस रोड स्थित एक फार्म में महोत्सव का शुभारंभ ठाकुर जगदेव चंद राष्ट्रीय शोध संस्थान के दून इकाई प्रमुख डॉ. सुशील कोटनाला ने शहीद स्मारक के प्रतीक पर दीप प्रज्ज्वलित कर किया। 

इससे पूर्व हिल फाउंडेशन स्कूल, कनक कला केंद्र के बच्चों ने देशभक्ति गीतों पर प्रस्तुति देकर लोगों में राष्ट्र प्रेम की भावना जागृत कर दी। मुख्य संयोजक जोगेंद्र पुंडीर ने कहा कुछ लोगों की गलत नीतियों के कारण 14 अगस्त को देश का विभाजन हुआ। इनके बारे में युवाओं को पता होना चाहिए।

इस दौरान पवन शर्मा, चंद्रगुप्त विक्रम, डॉ. मुकेश गोयल, उदयवीर मलिक, अजय कांत शर्मा, चंद्र मोहन गौड़, संजीव जैन, नीलेश अग्रवाल, आरबीएस रावत आदि मौजूद थे।

Advertisements