राहत : अब एक जून से रोजाना चलेंगी 200 ट्रेनें

0
259

स्टेशन से नहीं मिलेंगे टिकट खुलेगी ऑनलाइन बुकिंग शीघ्र

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून : लॉकडाउन के कारण रेलों के पहियों को चलाने के लिए केंद्र सरकार ने श्रमिक स्पेशल, राजधानी के रूट पर 15 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनों के बाद अब 200 नॉन एसी स्पेशल ट्रेनें चलाने घोषणा की है। इन रेलों का संचालन एक जून से रोजाना किया जाएगा। रेल मंत्री ने साफ़ किया है कि इन ट्रेनों के लिए रेलवे स्टेशन पर बुकिंग काउंटर के बजाय टिकटों की बुकिंग ऑनलाइन की जाएगी, ताकि रेलवे स्टेशन पर भीड़ न बढ़ पाए। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने देर रात ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है । रेल मंत्री के इस निर्णय के बाद माना जा रहा है कि इन ट्रेनों का रूट तय करते समय यह ध्यान में रखा जाएगा कि कहां प्रवासियों की संख्या ज्यादा है।

वहीं रेल मंत्री पियूष गोयल ने अगले कुछ दिन के भीतर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या भी दोगुनी कर 400 रोजाना करने की बात कही है। वहीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को लेकर हो रही राजनीति पर भी रेल मंत्रालय ने रोक लगाने की तैयारी कर ली है। मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए उस राज्य की सहमति जरूरी नहीं होगी, जहां श्रमिकों को पहुंचाना है। श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला गृह मंत्रालय के साथ मिलकर रेल मंत्रालय करेगा। जबकि राज्यों को इस संबंध में अब केवल व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है। मजदूरों की सुरक्षित और सुचारू घर वापसी सुनिश्चित करने के लिए गृह मंत्रालय ने नया तौर-तरीका निर्देश  (एसओपी) जारी किया है। 
श्रमिक स्पेशल के लिए रेल मंत्रालय के नए दिशा निर्देश :-
– ट्रेनों के संचालन पर गृह मंत्रालय के साथ मिलकर रेल मंत्रालय लेगा फैसला
– मजदूरों की जरूरत के हिसाब से तय किए जाएंगे ट्रेन के रुकने के स्टेशन
– अपने गंतव्य से बहुत ज्यादा दूर उतरने के लिए मजबूर नहीं होंगे मजदूर
– संबंधित राज्य परिचालन के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करेंगे
– कोई समस्या होने पर गृह मंत्रालय के अधिकारी से करना होगा संपर्क