• राहुल गांधी का निर्णय बड़ा मास्टर स्ट्रोक

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

नयी दिल्ली : प्रियंका गाँधी वाड्रा की राजनीति में औपचारिक प्रवेश की घोषणा से उत्तरप्रदेश के कांग्रेस में उत्साह का माहोल है ।लोकसभा चुनाव  से पहले प्रियंका गांधी की ताजपोशी को कांग्रेस का तुरूप का इक्का माना जा रहा है। पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें कांग्रेस महासचिव का पद देने के साथ ही पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है। एक जानकारी के अनुसार प्रियंका फरवरी के पहले सप्ताह से कार्यभार ग्रहण करेंगी।

राजनैतिक हलकों में लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले प्रियंका की महासचिव पद पर ताजपोशी को एक अहम घोषणा माना जा रहा है। इसके पहले भी प्रियंका के राजनीति में आने के कयास लगाए जा रहे थे। वहीँ कांग्रेस को उम्मीद है कि प्रियंका को राजनीती में उतारकर कांग्रेस अपना खोया हुआ वज़ूद वापस लाने का प्रयास कर रही है क्योंकि आज भी पुराने कांग्रेसियों में प्रियंका को स्वर्गीय इंदिरा गांधी की प्रतिमूर्ति के रूप में देखा जाता रहा है। वहीं राजनीतिक गलियारों में राहुल गांधी के इस निर्णय को बड़ा मास्टर स्ट्रोक बताया जा रहा है।

वहीं कांग्रेस ने इसके साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी यूपी की कमान सौंपी गई है। जबकि वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को यूपी प्रभारी के पद से छुट्टी देकर हरियाणा का प्रभार सौंपा गया है। इसके अलावा के सी वेणुगोपाल को कांग्रेस महासचिव नियुक्त किया गया है साथ ही वह कर्नाटक राज्य के प्रभारी बने रहेंगे।

Advertisements