महाभियोग पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बोले- यह इतिहास का सबसे बड़ा विचहंट

0
358

महाभियोग को ‘बिल्कुल बेतुका’ बताते हुए ट्रम्प ने कहा कि इससे उन्हें है ‘जबरदस्त गुस्सा’

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

वॉशिंगटन डीसी में आपातकालीन घोषणा 24 जनवरी तक

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के 20 जनवरी को शपथ ग्रहण समारोह से पहले और उस दौरान हिंसा होने की आशंका को लेकर स्थानीय एवं संघीय अधिकारियों की बढ़ती चिंताओं के बीच देश की राजधानी वाशिंगटन डीसी के लिए एक आपातकालीन घोषणा जारी की। सोमवार को जारी एक बयान में, व्हाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति के इस कदम से गृह मंत्रालय (डीएचएस) और संघीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी (फेमा) को राहत प्रयासों का समन्वय करने की अनुमति मिल गई है, ताकि स्थानीय लोगों के समक्ष आपातकाल के कारण आने वाली कठिनाइयों को कम किया जा सके। वाशिंगटन डीसी में आपातकालीन घोषणा सोमवार से प्रभावी हो गई, जो 24 जनवरी तक लागू रहेगी।

वॉशिंगटन : अमेरिकी संसद कैपिटल हिल में समर्थकों द्वारा हिंसा किए जाने के बाद से दुनियाभर में आलोचना का शिकार हो रहे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को महाभियोग पर अपनी चुप्पी तोड़ी। उन्होंने व्हाइट हाउस में अपने राष्ट्रपति पद के दौरान संभावित दूसरे महाभियोग को ‘बिल्कुल बेतुका’ बताते हुए कहा कि इससे उन्हें  ‘जबरदस्त गुस्सा’ आया है। टेक्सास की यात्रा को जाते हुए व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में अपने महाभियोग को राजनीति के इतिहास का सबसे बड़ा विचहंट करार दिया।

राष्ट्रपति पद पर डोनाल्ड ट्रंप को सिर्फ आठ दिन बचे हैं और इस वक्त वे अपने आप को काफी अकेला पा रहे हैं। दरअसल, पहले कैपिटल हिल में समर्थकों के उत्पात मचाने को लेकर उन्हें घेरा गया और फिर इसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर बैन कर दिया गया। अब बुधवार को उन्हें दंगा भड़काने के आरोप में दूसरी बार महाभियोग का सामना करना पड़ रहा है।

टेक्सास के अलामो की अपनी यात्रा के दौरान वे वहां अमेरिका-मैक्सिकन सीमा की दीवार बनाने में सफलता का दावा करेंगे। यह अपने हजारों समर्थकों को कांग्रेस की ओर मार्च करने के लिए आह्वान करने के बाद यह ट्रंप की पहली लाइव मौजूदगी होगी। मालूम हो कि 3 नवंबर के चुनाव के बाद से, रियल एस्टेट टाइकून अस्पष्ट रूप से एक झूठ को आगे बढ़ाते रहे हैं कि  डेमोक्रेट के जो बाइडन की नहीं, बल्कि असली विजेता डोनाल्ड ट्रंप थे। वहीं, पिछले हफ्ते इकट्ठी हुई भीड़ को वे जायज भी ठहराते रहे हैं।

गौरतलब हो कि पिछले सप्ताह ट्रंप समर्थक भीड़ ने कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) पर हमला कर दिया था। इस हमले से राष्ट्रपति तथा उपराष्ट्रपति के पदों के लिए में क्रमश: जो बाइडन एवं कमला हैरिस के निर्वाचन को सत्यापित करने की प्रक्रिया बाधित हुई। इस दौरान हुई हिंसा में पांच लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, एफबीआई ने कैपिटल बिल्डिंग में पिछले सप्ताह हुई हिंसा के बाद अब आगाह किया है कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के कार्यभार संभालने के कुछ दिन पहले उसे वाशिंगटन सहित सभी 50 राज्यों की राजधानियों में हथियारबंद प्रदर्शन आयोजित करने की खबरें मिली हैं। यूएस नेशनल गा्र्डस ब्यूरो ने भी अगले सप्ताह दंगों की आशंका को लेकर आगाह किया है।