• अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष की तीखी प्रतिक्रिया 
  •  नरेंद्र गिरी ने कहा सनातन धर्म कभी भी नहीं सिखाता हिंसा
  • विवेक ओबराय:वोटों की खातिर मुस्लिम इलाके में बोल रहे ऐसी बात 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

हरिद्वार। अभिनेता कमल हसन (Kamal Haasan) के हिंदू आतंकवाद को लेकर दिए गए बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि सनातन हिंदू धर्म कभी भी हिंसा नहीं सिखाता। वह वह हमेशा प्रेम और सद्भाव का ही संदेश देता है।

उन्होंने कहा हिंदू धर्म पर टिप्पणी करने वालों को पहले हिंदू धर्म को जानना और समझना चाहिए, उसके बाद ही उस पर टिप्पणी करें। उन्होंने हिंदुओं को आतंकवादी बताने वाले या हिंदू आतंकवाद की व्याख्या करने की कोशिश करने वालों को स्वयं अपने गिरेबान में झांक कर देखने की बात कही।

गौरतलब हो कि साउथ के सुपरस्टार कमल हासन (Kamal Haasan) का ताजा बयान सोशल मीडिया पर जोर पकड़ रहा है और हर ओर इसकी खूब चर्चा भी हो रही है। कमल हासन (Kamal Haasan) ने तमिलनाडु में चुनावी प्रचार के दौरान कहा कि आजाद भारत का पहला अतिवादी हिंदू ही था। जिसका नाम है नाथूराम गोडसे था।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि ऐसे लोग खुद कितने बड़े आतंकवादी हैं और उनके यहां कितने आतंकवादी हैं उन्हें इस पर विचार करना चाहिए ।साथ हो उन्होंने कहा ऐसे लोगों को पहले अपना घर सुधारना चाहिए और अपने लोगों को देखना चाहिए, जिनकी पहचान ही पूरे विश्व में आतंकवादी और आतंकवाद के तौर पर बन गई है, ऐसे लोगों को कोई अधिकार नहीं है कि विश्व शांति और विश्व सामाजिक व सांप्रदायिक सौहार्द का संदेश देने वाली हिंदू कौम पर कोई टिप्पणी करें।

कमल हासन (Kamal Haasan) के इस बयान पर बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबेरॉय (Vivek Oberoi) ने एक के बाद एक दो ट्वीट किए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की बायोपिक में उनका किरदार निभा रहे विवेक ओबेरॉय ने लिखा हैः ‘डियर कमल सर, आप महान कलाकार हैं। जिस तरह कला का कोई धर्म नहीं होता, उसी तरह आतंक का भी कोई धर्म नहीं होता! आप कह सकते हैं कि गोडसे आतंकवादी हैं। आप ‘हिंदू’ शब्द का इस्तेमाल क्यों कर रहे हैं? इसलिए क्योंकि आप वोटों की खातिर मुस्लिम बहुल इलाके में हैं?’

Advertisements