पिथौरागढ़ विस उपचुनाव में फीका रहा मतदान, कुल 47.48 फीसद हुआ मतदान

0
466

हार-जीत का 28 नवंबर को होगा फैसला

पिछली बार की तुलना में 17.11 फीसदी कम पड़े वोट

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देवदार बूथ पर नहीं पड़ा एक भी वोट

क्षेत्र के देवदार बूथ पर एक भी वोट नहीं पड़ा। इस बूथ पर 461 मतदाता थे।

ग्रामीण गांव में सड़क, पानी और संचार की सुविधाओं को लेकर आक्रोशित थे।

इनका कहना था कि लंबे समय से वह जनप्रतिनिधियों व अफसरों के चक्कर काटते आ रहे हैं, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। 

देहरादून : उत्तराखंड में पिथौरागढ़ विधानसभा सीट पर सोमवार को हुए उप चुनाव में मतदान फीका रहा इस बार कुल 47.48 प्रतिशत मतदान हुआ, जो वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव से 17.11 प्रतिशत कम रहा। तब 64.59 प्रतिशत मतदान हुआ था। उप चुनाव को लेकर मतदाताओं में जोश भी कम दिखा।जबकि बूथों पर दिनभर छाये सन्नाटे और कम मतदान ने राजनीतिक दलों के साथ ही प्रत्याशियों और उनके समर्थकों के होश उड़ा दिए हैं।

सुबह को बहुत धीमी गति से शुरू हुआ मतदान दोपहर को कुछ तेजी पर आया। मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। 2017 में 67,007 मतदाताओं ने मतदान किया तो इस बार 50,191 मतदाताओं ने ही वोट देने में दिलचस्पी दिखाई। मतदान के साथ ही भाजपा प्रत्याशी चंद्रा पंत, कांग्रेस प्रत्याशी अंजु लुंठी और सपा प्रत्याशी ललित मोहन भट्ट का सियासी भाग्य ईवीएम में बंद हो गया। मतगणना 28 नवंबर को होगी। 

सोमवार सुबह आठ बजे से मतदान प्रारंभ हुआ। सुबह ठंड के चलते बूथों पर काफी कम लोग पहुंचे थे। पहले एक घंटे में नौ बजे तक मात्र 4.59 फीसद मतदान हुआ। नौ बजे के बाद भी मतदान में तेजी नहीं आई। नगर के एक दो बूथों पर कुछ देर के लिए लाइन दिखी परंतु जल्दी ही सुनसानी छा गई। यही हाल ग्रामीण क्षेत्रों का भी रहा। मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मी वोटरों का इंतजार करते नजर आए।

भाजपा प्रत्याशी चंद्रा पंत ने अपने परिजनों के साथ शहर के राजकीय बालिका इंटर कालेज स्थित बूथ पर और कांग्रेस प्रत्याशी अंजू लुंठी ने तड़ीगांव बूथ पर मतदान किया। इसी तरह सपा प्रत्याशी मनोज कुमार भट्ट ऊर्फ ललित मोहन ने विषाड़ के बूथ पर वोट डाला। सायं पांच बजे मतदान समाप्त हो गया। जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. वीके जोगदंडे सहित प्रेक्षकों ने नगर सहित आसपास के मतदान केंद्रों का सघन निरीक्षण किया। देर रात तक 109 मतदान पार्टियां जिला मुख्यालय को पहुंच गईं थी। ईवीएम को कड़ी सुरक्षा के बीच पीजी कालेज में बने स्ट्रांग रू म में जमा किया जा रहा है।