दो मृतकों की हुई अभी तक शिनाख्त तीसरा अज्ञात 

तीनों मृतकों के काटे गए हैं जननांग : पुलिस 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

पिथौरागढ़ : जिला मुख्यालय से पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित मड़धूरा गांव में तीन नेपाली लोगों का कत्ल कर दिया गया है। तीनों मृतक नेपाल के निवासी बताये गए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार जघन्य तरीके से की गयी इस हत्या में धारदार हथियारों का प्रयोग किया गया है। पुलिस ने बताया कि तीनों मृतकों के जननांग काटे गए हैं। शांतप्रिय इलाके में हुए इस तिहरे हत्याकांड से इलाके में सनसनी फैल गई है। मृतक हरीश बोरा, काशी और एक अज्ञात है। फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंच गई है। 

पुलिस मृतक की शिनाख्त व हत्या का कारण पता करने की कोशिश में जुट गई है। घटना स्थल पर पुलिस के आला अधिकारी भी पहुंच गए हैं। दीपावली त्यौहार से ठीक पहले ऐसी भयावह वारदात से गांव में दहशत का माहौल है। अभी नगर के सरस्‍वती विहार कालोनी में एक महिला की गला घोंटकर हत्‍या हुई थी। वहीं, इस वारदात में शव के अंग-भंग किए जाने से लोगों में तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार सीमांत जिले के मडधूरा गांव में तीन नेपाली नागरिक मजदूरी के लिए गए थे। शुक्रवार की रात को तीनों नेपालियों की बेरहमी से हत्या कर दी गई। हैरानी की बात है कि हत्या के दूसरे दिन शनिवार शाम तक किसी को कानो कान खबर नहीं लगी। शनिवार सायं जब गांव की एक महिला किसी काम से उधर गई, जहां नेपाली रहते थे। वहां पर एक कमरा खुला था। महिला ने देखा कि कमरे के अंदर एक नेपाली नागरिक का शव पड़ा हुआ है और दूसरा कमरा बंद है। इसके बाद महिला बदहवास शोर मचाते हुए गांव की ओर भागी। शोर सुनकर ग्रामीणों को घटना का पता चला। इसके बाद गांव वालों ने जाजरदेवल थाने को मामले की सूचना दी। देर सायं पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद पुलिस ने जब दूसरा कमरा खोला तो उसमें दो नेपालियो के और शव मिले, जिसमें से एक नेपाली का चेहरा बुरी तरह कुचला गया था। तीनों मृतकों के जननांग काटे गए थे। मृतको में अभी तक दो की ही शिनाख्त हुई है। पुलिस के अनुसार मृतक का नाम काशी बोरा और हरीश बोरा है।

पुलिस इस मामले में नेपालियों के ही संलिप्त होने की आशंका जता रही है। वहीं, संवेदनशील अंगों के काटे जाने से लोग इस मामले को छेड़छाड़ से जोड़ कर देख रहे हैं। वारदात में स्थानीय लोगों के शामिल होने की आशंका को बल मिल रहा है। पुलिस अधीक्षक आरसी राजगुरु मौके पर हैं। गांव में काफी संख्या में पुलिस तैनात किए गए हैं। मामले की जांच चल रही है। शांत माने जाने वाले गांव में त्योहार से पहले तीन नेपालियों की निर्मम हत्या से सनसनी बनी है। लोगों में तरह-तरह की चर्चा हो रही है। अभी दो दिन पूर्व ही नगर के सरस्वती विहार में महिला की गला घोंट कर हत्या हुई थी और अब तीन हत्याओं से लोगों में भय व्याप्त है।

Advertisements