सनसनीखेज हत्याओं से सहमी है राजधानी

देहरादून । एक ज़माने में देशभर में सबसे शांत समझे जाने वाली दून घाटी के देहरादून नगर के  राजधानी बनने के बाद  निरंतर बढ़ रहे अपराधिक मामलों से लोगों में भय का माहौल बना हुआ है और वे स्वंय को पूरी तरह से असुरक्षित भी महसूस करने लगे है। चोरियों के बढ़ते हुए ग्राफ ने तथा हत्याओं की नृशंस वारदातों ने पुलिस के हाथ-पांव भी फुला कर रखे हुए है। मात्र 48 घंटे पूर्व ही राजधानी में हुए सनसनी दौड़ा देने वाले दोहरे हत्याकांड के मामले में भले ही चंद घंटों बाद ही पुलिस ने सफलता हासिल करते हुए आरोपी प्रेमिका व उसके प्रेमी  को गिरफ्तार कर लिया हो, लेकिन इस बात से इंकार नही किया जा सकता है कि दून में जघन्य अपराध बढ़ रहे हैं।

दून नगरी निरंतर अपराधों की चपेट में आ रही है। पिछले लगभग एक वर्ष का समय देखा जाए तो वह पुलिस के लिए अपराधिक ग्राफ को देखते काफी शर्मसार करने वाला ही रहा है। हाल ही में एक प्रेमिका तथा उसके शातिर प्रेमी ने जिस प्रकार से राजधानी में दोहरे हत्याकांड को बड़ी बेरहमी के साथ अंजाम दिया और दोनों ने मिलकर पति व ससुर को मारने के पश्चात साक्ष्य मिटाने हेतु उन्हें जलाने की भी कोशिश की उससे साफ जाहिर हो जाता है कि पुलिस द्वारा धर दबोचे गये प्रेमी और प्रेमिका कितने शातिर हो सकते हैं ? इस बेहद सनसनी खेज हत्याकांड को लेकर समूचे राजधानी में दहशत का माहौल भी महसूस किया जा रहा है। राजधानी में पिछले एक वर्ष के दौरान कई और भी अन्य हत्याएं हुई हैं जिन्होंने कि पुलिस की जहां नींद हराम की है तो वहीं लोगों में भी दहशत पैदा करने में कोई कमी नहीं छोड़ी। 48 घंटे पूर्व घटित हुए दोहरे हत्याकांड को लेकर पुलिस हालांकि मुख्य आरोपियों मृतक की प्रेमिका व उसके प्रेमी को पहले ही धर दबोच चुकी है लेकिन पुलिस इसी मामले में दो और को आरोपी मानकर उनकी तलाश में जुटी हुई है।

एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने कहा कि अपराधों को रोकने एवं अपराधियों की नाक में नकेल कसने के लिए पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है और किसी भी सूरत में अपराधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राजधानी में चोरियों को रोकने के लिए भी सभी थाना व चौकी प्रभारियों को कड़े व चेतावनी के साथ दिशा-निर्देश दे दिये गये हैं ताकि चोरियों पर अंकुश पाया जा सके। पुलिस कप्तान ने राजधानी में सभी संदिग्धों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश भी दिये हैं।

Advertisements