नाबालिग से शादी करने वाले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
755

छह हजार रुपये के लिए पिता ने अपनी बेटी को बेच दिया था

शिक्षक उपेंद्र सती ने उठाया था नाबालिग से शादी का मामला

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

चमोली । जनपद के विकासखंड नागनाथ पोखरी के एक गांव में नाबालिग के विवाह का मामला सामने आया था। पोखरी के ही एक विद्यालय में तैनात शिक्षक ने बीते दिनों यह मामला उजागार किया था। इसके बाद बाल आयोग ने मामले का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर राजस्व पुलिस से लेकर रेग्युलर पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई कर अभियुक्त को देहरादून से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के खिलाफ संबधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

यह पूरा मामला पोखरी विकासखंड के खन्नी ग्राम पंचायत के बनखुरी गाँव का है। यहाँ एक व्यक्ति ने अपनी 14 वर्षीय बालिका की लॉकडाउन के दौरान एक 32 वर्षीय गोपाल राम नाम के युवक के साथ शादी करवा दी थी। लेकिन यह शादी गांव नहीं हुई थी. जिस वजह से किसी गांव वाले को इस बात का पता भी नहीं चल पाया था। कहा जा रहा कि 6 हजार रुपये के लिए पिता ने अपनी बेटी को बेच दिया था। वहीं, स्कूल खुलने के बाद जब बालिका स्कूल नहीं आई तो शिक्षक उपेंद्र सती ने इसका पता किया। जब यह पूरा मामला उनके संज्ञान में आया तो वह हैरान रह गए।

इसके बाद उपेंद्र सती अध्यापक राजकीय उच्चतर प्राथमिक विद्यालय हरिशंकर तहसील पोखरी जनपद चमोली ने लिखित शिकायत पर गोपाल राम के विरुद्ध पॉक्सो अधिनियम बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम समेत कई धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करवाया। वहीं, मामले को चौकी प्रभारी नंदप्रयाग उपनिरीक्षक पूजा मेहरा को सौंपा गया था। जिसके बाद अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए पोखरी थाना अध्यक्ष के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। पुलिस ने बीते गोपाल राम को देहरादून की भगतसिंह कॉलोनी से उसके घर से गिरफ्तार किया।