जहरीली शराब पीने से मरे मृतकों के परिजनों को सरकार ने दिया दो-दो लाख का मुआवज़ा

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून: पथरिया पीर जहरीली शराब कांड में वांछित चल रहे शराब तस्कर योगेंद्र नेगी उर्फ राजा को नगर कोतवाली पुलिस ने द्रोण होटल के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसकी गुरुवार से ही कोर्ट में आत्मसमर्पण करने की सुगबुगाहट चल रही थी।

एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि प्रकरण में अब तक चार आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। विवेचना के दौरान यदि और के भी नाम सामने आते हैं तो उसकी भी गिरफ्तारी की जाएगी।

बता दें कि नेशविला रोड स्थित पथरिया पीर बस्ती में बीते 20 व 21 सितंबर को जहरीली शराब पीने से छह लोगो की मौत हो गई थी। वहीं ऋषिकेश एम्स में उपचाराधीन राजू (65) पुत्र झगड़ू की मौत हो जाने से संख्या सात पहुंच गई है। घटना के बाद से पुलिस इलाके में शराब तस्करी करने वालों पर शिकंजा कसने में जुटी है, जिसके तहत गौरव सिंह, अजय सोनकर उर्फ घोचू व महेश उर्फ मच्छर की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है।

वहीं, स्थानीय लोगों के बयान में योगेंद्र नेगी उर्फ राजा निवासी नेशविला रोड का भी नाम सामने आया था, लेकिन वह फरार हो गया था। इधर गुरुवार को पुलिस को मुखबिरों के जरिए सूचना मिली कि राजा कोर्ट में आत्मसमर्पण करने की फिराक में है, जिसके बाद कोर्ट परिसर के बाहर सादे वेश में पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी गई, लेकिन देर शाम तक वह कोर्ट नहीं पहुंचा। इसके बाद भी पुलिस मुखबिर तंत्र के जरिए उसकी लोकेशन ट्रेस करने में जुटी रही।

शुक्रवार की सुबह पुलिस को जानकारी मिली कि राजा को गांधी रोड पर द्रोण होटल के पास देखा गया है और वह कोर्ट में सरेंडर करने की कोशिश में है। इसके बाद कोतवाली पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर उसकी तलाश शुरू कर दी। इस बीच द्रोण होटल के पास पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

राजा पर दर्ज हैं दस मुकदमे

योगेंद्र सिंह नेगी उर्फ राजा पर वर्ष 1993 से लेकर साल 2007 तक नगर कोतवाली में कुल मुकदमे दर्ज हुए थे। इसमें लूट के तीन, मारपीट व जानलेवा हमले के दो, चोरी व मादक पदार्थ तस्करी का एक-एक मुकदमा दर्ज है। वहीं पुलिस ने उस पर गैंगेस्टर का एक गुंडा अधिनियम में दो बार मुकदमा दर्ज हो चुका है।

Advertisements