• -जिला प्रशासन की पहल, बंजर भूमि में लगाये जायेंगे फलदार वृक्ष

  • -यादें भी बनी रहेंगी वहीं लगाए गए इन पेड़ों से पर्यावरण की रक्षा भी होगी : मंडलायुक्त 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

रुद्रप्रयाग । देश-विदेश से यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्री अब अपने पूर्वजों के नाम से पौधों का रोपण करेंगे। इससे उनकी जहां यादें भी बनी रहेंगी वहीं लगाए गए इन पेड़ों से पर्यावरण की रक्षा भी हो सकेगी। जिला प्रशासन की पहल पर यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके लिए जगह का चयन किया जा रहा है, जिससे तीर्थयात्री उन जगहों पर पौधों का रोपण कर अपने पूर्वजों के नाम को भी दर्शा सकें।

दरअसल, स्मृति वन कार्यक्रम के तहत प्रथम चरण में राजकीय इंटर कॉलेज रुद्रप्रयाग के आस-पास की जमीन पर पीपल, आंवला, बहेड़ा, कचनार आदि के 50 से अधिक पौधों का रोपण किया गया। कार्यक्रम कार्यक्रम का शुभारंभ गढ़वाल आयुक्त डॉ. बीवीआरसी पुरुषोत्तम एवं जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने पौध लगाकर किया। इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों ने पौधों का रोपण किया।

कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि स्मृति वन कार्यक्रम के तहत जनपद में आने वाले तीर्थ यात्रियों से अपने पूर्वजों के नाम पर पौधरोपण का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पौधों के रोपण से पर्यावरण को फायदा पहुंचेगा, वहीं तीर्थयात्रियों द्वारा रोपित पौधों से देश-विदेश में एक अच्छा संदेश जायेगा।

उन्होंने कहा हर साल लाखों की संख्या में तीर्थयात्री चारधाम यात्रा पर पहुंचते हैं। ऐसे में यात्रा मार्गों पर हरे-भरे पेड़ों को लगाये जाने से स्वच्छ व सुंदर वातावरण बनेगी, वहीं दूसरी ओर हर साल यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्री अपने पूर्वजों के नाम से रोपित पौधों को भी देखेंगे।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि स्मृति वन कार्यक्रम के तहत हर अधिकारी के नाम से पौधरोपण किया गया है। पौधों की सुरक्षा व उनके संवर्द्धन की जिम्मेदारी वन विभाग की होगी। कहा कि जिले में कई स्थानों पर बंजर भूमि है, जहां पौधों के रोपण से हरियाली बनी रहेगी और बारिश के समय इसका लाभ मिलेगा।

कार्यक्रम में गढ़वाल आयुक्त ने पौधों की सजीवता के लिए मुख्य शिक्षा अधिकारी चित्रानंद काला को रोपे गए समस्त पौधों का आवंटन स्कूली बच्चों में करने को कहा। उन्होंने कहा कि इससे विद्यार्थी में प्रतिस्पर्धा रहेगी कि मेरा पौधा जीवित रहे। वे अपने पौधों की रक्षा करेंगे और समय समय पर पानी व आदि देते रहेंगे।

इस मौके पर अपर जिलाधिकारी अरविंद पांडेय, एसडीओ महिपाल सिंह सिरोही, एसडीएम सदर बृजेश तिवारी, प्रभारी अधिकारी मयादत्त जोशी, उद्यान अधिकारी योगेंद्र सिंह, पर्यटन अधिकारी पीके गौतम, शिक्षा अधिकारी प्राथमिक विद्या शंकर चतुर्वेदी, अधिशासी अभियंता सिंचाई प्रताप सिंह बिष्ट, डीओपीआरडी केएन गैरोला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।