मुख्य कार्यक्रम में राजधानी देहरादून में राज्यपाल ने फहराया तिरंगा

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में किया ध्वजारोहण

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने 71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उपस्थित अधिकारियों, कार्मिकों एवं पुलिस के जवानों को संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने सभी प्रदेश वासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए राज्य की सुख-समृद्धि की कामना की। संविधान निर्मात्री समिति, स्वतंत्रा आन्दोलन में अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले  एवं देश की एकता एवं अखण्डता के लिए कार्य करने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्मरण करते हुए मुख्यमंत्री ने उनको श्रद्धांजलि दी।

इसके उपरान्त मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री बंशीधर भगत ने भाजपा कार्यालय में ध्वजारोहण किया।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने परेड ग्राउण्ड देहरादून में गणतंत्र दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर उन्होंने पाँच वयोवृद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानिनियों एवं उनके आश्रितों से भेंट कर उनकी कुशलक्षेम पूछी तथा शॉल भेंट कर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग द्वारा सरकार की तीन साल की उपलब्धियों पर लगाई गई फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।  

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को राजपुर रोड स्थित, वन मुख्यालय में वन विभाग द्वारा आयोजित वृहद रक्तदान शिविर का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि रक्तदान महादान है। रक्तदान में उत्तराखण्ड के लोग आगे हैं। औसतन जितने रक्तदान की आवश्यकता है जागरूकता के परिणामस्वरूप उससे अधिक रक्तदान उत्तराखण्ड में हो रहा है।    

देहरादून : उत्तराखंड में 71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रदेशभर में भव्य कार्यक्रम आयोजित किए गए। सूबे का मुख्य कार्यक्रम देहरादून के परेड ग्राउंड में आयोजित किया गया। जिसमें राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने तिरंगा फहराया और परेड की सलामी ली। इस दौरान झांकियां भी निकाली गईं।

71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने रविवार सुबह साढ़ें दस बजे परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया तथा राष्ट्रीय ध्वज को नमन करते हुए परेड की सलामी ली। इस दौरान सेना, आइटीबीपी, पुलिस, पीएसी, होमगार्ड, पीआरडी के जवानों सहित एनसीसी की टुकड़ियों ने मार्च पास्ट करते हुए राज्यपाल को सलामी दी।

राज्य के लोक कलाकारों ने भी अपनी नृत्य कला का मनोहारी प्रदर्शन किया। राज्यपाल ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कर्तव्यपरायण पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया। समारोह में प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, स्थानीय विधायक खजान दास, मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, राज्यपाल सचिव आर के सुधांशु, सहित पुलिस तथा प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि, विशिष्ट गणमान्य अतिथि एवं जनसामान्य भी उपस्थित थे। वहीं, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया। मुख्यमंत्री ने उपस्थित अधिकारियों, कार्मिकों एवं पुलिस के जवानों को संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई। उधर, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने सचिवालय परिसर में ध्वजारोहण किया।

परेड ग्राउंड में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के सात पुलिस अधिकारियाें को विशिष्ट और सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। देहरादून पुलिस मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक अनिल के. रतूड़ी ने ध्वजारोहण किया और गणतंत्र दिवस संकल्प की शपथ दिलाई। उन्होंने पुलिस कर्मियों को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिह्न, सराहनीय सेवा सम्मान चिह्न प्रदान कर सभी पदक विजेताओं को बधाई दी।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर परेड ग्राउंड में विभिन्न सांस्कृतिक दलों की ओर से छोलिया, गढ़वाली, कौथिक, बसंत, हारूल, पौणा नृत्य, खुकुरी नृत्य, रंगपा नृत्य, नन्दादेवी राजजात आदि का प्रदर्शन किया गया। मोना बाली और हेमंत बिष्ट की ओर से कार्यक्रम में उद्घोषक के रूप में कार्य किया गया। परेड ग्राउंड में 12वीं गढ़वाल, आइटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, हिमाचल प्रदेश पुलिस, उत्तराखंड विशेष पुलिस, महिला दल 40 बटालियन पीएसी, उत्तराखण्ड विशेष पुलिस 31 बटालियन, होमगार्ड, पीआरडी, एनसीसी ब्वाइज-गर्ल्‍स तथा गौरव सेनानी प्लाटून ने मार्चपास्ट में प्रतिभाग किया। मार्चपास्ट करने वाली टुकड़ियों में 12वीं गढ़वाल राईफल को प्रथम, एनसीसी ब्वाइज एंड गर्ल्‍स को द्वितीय तथा आइटीबीपी दल को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के दौरान एमडीडीए, एसडीआरएफ, स्मार्ट सिटी, उरेडा विभाग, नागरिक उड्डयन विभाग, बाल विकास विभाग, स्वजल ग्राम विकास, संस्कृति एवं पर्यटन विभाग, उद्यान विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, उद्योग विभाग एवं नागरिक सुरक्षा विभाग की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं तथा नीतियों पर आधारित झांकियों का भी प्रदर्शन किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग की झांकी को प्रथम, उरेडा विभाग को द्वितीय, उद्यान विभाग तथा संस्कृति एवं पर्यटन विभाग को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

Advertisements