कारगिल में शहीद हुए सैनिकों को दी श्रद्धांजलि

एक शाम शहीदों के नाम’ कार्यक्रम में शहीदों को दी श्रद्धांजलि

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सर्वे प्रेक्षागृह हाथीबडकला में शौर्य दिवस पर आयोजित ‘‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम में कारगिल में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कारगिल युद्ध के 20 वर्ष पूरे हो रहे हैं। यह ऐतिहासिक युद्ध था जो हमारे वीर सैनिकों ने लड़ा। उन्होंने कहा कि हमारी सेना ने सदैव देश की सुरक्षा के लिए अपना बलिदान दिया है। 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि कारगिल एक ऐसा युद्ध था जो विपरीत परिस्थितियों में लड़ा गया जिसमें हमारे प्रदेश के 75 सैनिक शहीद हुए। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक युद्ध से हमारे पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी का भी नाम जुडा है उन्होंने इस सम्बन्ध में एतिहासिक व राजनैतिक निर्णय लेकर वायुसेना को भी इसमें भागीदार बनाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सैनिकों ने जिस अदम्य साहस, वीरता का परिचय दिया इतिहास उसे सदैव याद रखेगा। इस युद्ध की हमारे जवानों की शौर्यगाथा हमारे युवाओं को प्रेरणा भी प्रदान करेगी। ‘‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम में शहीदों के सम्मान में नाट्य एवं लोकनृत्य की प्रस्तुती दी गयी।

इस अवसर पर पर्यटन वं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज, विधायक गणेश जोशी, उत्तराखण्ड संस्कृति कला परिषद के उपाध्यक्ष घनानंद, निदेशक संस्कृति बीना भट्ट आदि उपस्थित थे।

Advertisements