• कोतवाल के खिलाफ हो कानून से खिलवाड़ का मुकदमा दर्ज
  • छोटे दुकानदार के साथ मारपीट में लाइन हाजिर भी हो चुके हैं कोतवाल 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : भाकपा(माले) राज्य कमेटी सदस्य इन्द्रेश मैखुरी ने बयान जारी कर नई टिहरी में कोतवाल सुंदरम शर्मा द्वारा 18 नवम्बर को नगर निकाय चुनाव के दिन आर्किटेक्ट के.सी.कुड़ियाल के साथ मारपीट और पत्रकारों के साथ अभद्रता किये जाने की भाकपा(माले) तीव्र भर्त्सना की है। उन्होंने कहा हम यह मांग करते हैं कि एक प्रबुद्ध नागरिक से सरेआम गाली गलौच,मारपीट करने और पत्रकारों से अभद्रता करने वाले कोतवाल सुंदरम शर्मा को तत्काल निलंबित किया जाए और उनके विरुद्ध कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने के मामले में मुकदमा दर्ज किया जाए।

पुलिस की जिम्मेदारी कानून व्यवस्था कायम करने की है। पुलिस कानून के मातहत है। कानून से ऊपर नही है। लेकिन नई टिहरी के कोतवाल के कारनामों को देख कर ऐसा प्रतीत होता है कि वे कानून को अपना बंधक समझते हैं। अतीत में भी एक छोटे दुकानदार के साथ मारपीट करने में वे लाइन हाजिर किये जा चुके हैं। ऐसा अधिकारी जो जनता और मीडिया से अभद्रता करे,उसे किसी सार्वजनिक पद पर नहीं बैठाया जाना चाहिए।

राज्य की त्रिवेंद्र रावत सरकार से यह सवाल है कि इस बदमिजाज और कानून से खिलवाड़ करने वाले अफसर को बचा कर वह क्या सिद्ध करना चाहती है ? राज्य सरकार को ऐसे अफसर चाहिए जिनसे राज्य में कानून व्यवस्था कायम हो या वह ऐसे अफसरों की संरक्षक है, जिनसे राज्य में अनावश्यक तनाव उत्पन्न हो रहा है? सुंदरम शर्मा जैसे अफसरों को देख कर तो लगता है कि राज्य में डबल इंजन की सरकार नहीं बल्कि डबल हुड़दंग की सरकार चल रही है। जो आम जनता और पत्रकार दोनों के साथ हुड़दंगियों की तरह पेश आ रही है। हम नई टिहरी में चल रहे पत्रकारों के आंदोलन का समर्थन करते हुए,सुंदरम शर्मा को तत्काल हटाये जाने की मांग करते हैं.

Advertisements