भ्रष्टाचार पर जीरो टाॅलरेंस केवल एक जुमला !

देहरादून । प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व विधायक प्रीतम सिंह ने कहा है कि भ्रष्टाचार पर जीरो टाॅलरेंस केवल एक जुमला मात्र ही है क्योंकि उस पर अमल नहीं किया जा रहा है। सदन में घोषणा करने के बावजूद भी एनएच 74 घोटाले का जीता जागता उदाहरण है। जो जांच चल रही है वह भी सिमट कर रह गई है।

यहां कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत मे उन्होंने कहा कि एनएच 74 घोटाले में केवल छोटे अधिकारियों को निशाना बनाया गया और भाजपा के विधायकों ने भी एसआईटी की जांच पर सवाल खडे किये है। भ्रष्टाचार रोकने के लिए सौ दिन में लोकायुक्त की नियुक्ति का वायदा करने वाली भाजपा आज तक इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर पा रही है और पूर्व में लोकायुक्त की नियुक्ति को लेकर सदन में बिल पेश किया गया तो कांग्रेस ने उसका समर्थन किया लेकिन प्रदेश सरकार ने इस मामले को प्रवर समिति के हवाले कर दिया और समिति ने अपनी रिपोर्ट भी दे दी है लेकिन फिर भी लोकायुक्त की तैनाती नहीं की जा रही है। 

प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार को संरक्षण दे रही है और जिस प्रकार से मेडिकल कालेजों को फीस तय करने का अधिकार प्रदान कर दिया गया है, आबकारी नीति में माफियाओं को शामिल करने का काम किया जा रहा है। आबकारी नीति में कलस्टर बनाकर काम करने की योजना प्रदेश सरकार की है। बेरोजगारों को रोजगार देने का वायदा केन्द्र व प्रदेश सरकार ने किया लेकिन आज तक किसी को रोजगार नहीं दिया गया बल्कि अपने हक के लिए सड़कों पर उतरे युवा बेरोजगारों पर लाठीचार्ज किया गया सहकारिता के मामले पर प्रशासक बैठाने की योजना सरकार की है और चुने हुए प्रतिनिधियों को हटाने का काम किया जा रहा है सरकार ने शिक्षण संस्थाओं को विश्वास में नहीं लिया और वह भी आंदोलनरत है।

इस अवसर पर वार्ता में पूर्व मंत्री दिनेश अग्रवाल, पूर्व विधायक राजकुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, गरिमा दसौनी, लालचन्द शर्मा, प्रभुलाल बहुगुणा, प्रमोद कुमार सिंह, मथुरादत्त जोशी, महेश जोशी आदि मौजूद थे।

Advertisements