कार्यालय की महिला कर्मचारी ने लगाया था गुरुदेव पर आरोप

निलंबित हुआ ए ई मुख्य अभियंता कार्यालय से हुआ संबद्ध

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : उत्तराखंड में भाजपा के महामंत्री संगठन संजय कुमार के मी-टू मामले में फंसने के बाद अब लघु सिंचाई उपखंड नौगांव का एक सहायक अभियंता गुरुदेव सिंह मी -टू मामले में फंस गया है जिसे प्रदेश शासन ने जांच के बाद निलंबित कर मुख्य अभियंता कार्यालय से संबद्ध कर दिया है। मामले में सचिव डॉ.भूपिंदर कौर औलख ने उत्तरकाशी जिला प्रशासन की जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद सहायक अभियंता को निलाबित करने का आदेश जारी किया।

गौरतलब हो कि उत्तरकाशी जिले के नौगांव में तैनात सहायक अभियंता गुरुदेव के खिलाफ लघु सिंचाई विभाग में ही कार्यरत एक महिला ने बीते दिनों उत्पीड़न की शिकायत की थी। शासन ने मामले में जिलाधिकारी उत्तरकाशी को जांच के आदेश दिए गए थे जिस पर जिलाधिकारी नेमामले के लिए एक आंतरिक जांच समिति का गठन किया। इस समिति ने जांच दो जुलाई 2019 को शासन को भेज दी थी। जांच में आरोपों की पुष्टि हुई और इसी के आधार पर सचिव ने सहायक अभियंता को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया गया।

आदेश के मुताबिक सहायक अभियंता का आचरण उत्तराखंड राज्य कर्मचारी आचरण नियमावली 2002 के खिलाफ पाया गया। आदेश में कहा गया है कि निलंबन की अवधि में सहायक अभियंता को आधा वेतन दिया जाएगा और जीवन निर्वाह भत्ते के साथ महंगाई भत्ता नहीं दिया जाएगा। शासन ने सहायक अभियंता को लघु सिंचाई के मुख्य अभियंता और विभागाध्यक्ष कार्यालय से संबद्ध कर दिया है।

Advertisements