पिथौरागढ़ में लापता 11 में से पांच ग्रामीणों के मकानों के मलवे में दबे शव मिले,शेष की तलाश जारी

0
511

तीन लोगों की शिनाख्त, जबकि दो शव अभी पूरी तरह बाहर नहीं आ पाने के कारण उनकी शिनाख्त नहीं हो पाई 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
पिथौरागढ़ : बंगापानी तहसील के टांगा गांव में सोमवार की सुबह आई आपदा के कई घंटे बीत जाने के बाद रेस्क्यू टीम केवल पांच लोगों के शव ही निकाल पाई है। इसमे से तीन लोगों की शिनाख्त हो गई है, जबकि दो शव अभी पूरी तरह बाहर नहीं आ पाने के कारण उनकी शिनाख्त नहीं हो पाई है।
दूसरे दिन दोपहर तीन बजे तक तीन लापता लोगों के शव मिले थे। उसके बाद दो और शवों का पता चला, उन्हें रेस्क्यू टीम बाहर निकाल रही है, अभी छह और लोग लापता हैं। 
बंगापानी तहसील के टांगा गांव में सोमवार की सुबह तीन बजे आपदा ने तीन मकानों को अपनी चपेट में ले लिया था। इसके बाद से इस गांव के 11 लोग लापता चल रहे थे।
आपदा की घटना के बाद एसडीआरएफ और प्रशासन की टीम मौके पर लगातार सर्च अभियान चला रही है। मंगलवार को घटना के 28 वें घंटे में मलबे में दबे दो शव रेस्क्यू टीम को ने निकालने में सफलता हासिलकी।
इसके 6 घंटे बाद सर्च टीम को मलबे में दबा एक और शव मिला। इसके बाद फिर दो और शवो के होने का पता चला है। लेकिन वे दोनों शव अभी पूरी तरह बाहर नहीं आ पाए हैं।
इस तरह अब भी छह लोग लापता हैं। जिनका कोई सुराग नहीं मिल सका है। जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदण्डे, पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शिनी समेत क्षेत्रीय विधायक हरीश धामी,एन डी आर एफ,आई टी बी पी,एस डी आर एफ,पुलिस व राजस्व विभाग के जवान व कार्मिक, मेडिकल टीम के साथ ही स्थानीय जनता मौके पर मौजूद है
उन्होंने बचाव राहत कार्यों का जायजा लिया। डीएम ने गांव के  आपदा प्रभावितों के लिए टैंट में व्यवस्था कराई है। इनमें 26से अधिक परिवारों को फिलहाल आपदा के खतरे को देखते हुए शिफ्ट कराया गया है।  
तीन शवों की शिनाख्त हुई है उसमें एक माधव सिंह पुत्र चन्द्र सिंह  (70), गणेश सिंह पुत्र माधव सिंह (40), हीरा देवी पत्नी गणेश सिंह  (30) बताए जा रहे हैं, अभी दो शवों की पहचान पूरी तरह बाहर निकलने के बाद होगी।