मिशन शिक्षण संवाद कुमाऊँ मण्डल की वार्षिक मण्डलीय कार्यशाला सम्पन्न

0
959

शिक्षा व्यवस्था के लिए शुभ संकेत : कि अवकाश के दिनों में भी हमारे शिक्षक छात्र हित में कर रहे हैं बेहतर प्रयास : प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी  

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

बागेश्वर : आज मिशन शिक्षण संवाद उत्तराखण्ड के कुमाऊँ मण्डल की वार्षिक कार्यशाला का आयोजन भगवान बागनाथ के पवित्र धाम बागेश्वर में स्थित जिले के प्रमुख शैक्षणिक संस्थान जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान में श्रीमान अपर शिक्षा निदेशक प्रा.शि. के प्रतिनिधि मुख्य शिक्षा अधिकारी प्रमोद तिवारी, जिला शिक्षा अधिकारी प्रा.शि. रमेश चंद्र मौर्य, प्राचार्य डाइट डाॅ. शैलेन्द्र धपोला मिशन संवाद के राज्य प्रभारी श्री लक्ष्मण सिंह मेहता, गढ़वाल के मण्डल संयोजक माधव सिंह नेगी के कुशल सानिध्य में भी हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथियों द्वारा माँ शारदे के चित्र का अनावरण कर दीप प्रज्वलित कर किया गया।

तदुपरांत आदर्श विद्यालय बागेश्वर के छात्र-छात्राओं द्वारा सरस्वती वन्दना व स्वागत गीत की प्रस्तुति दी गई। पिथौरागढ़ के जिला संयोजक श्री सत्यम जोशी जी द्वारा स्वरचित सरस्वती वन्दना व मिशन गीत का गायन किया गया।तदुपरांत बागेश्वर जनपद की टीम द्वारा उपस्थित मंचासीन अतिथिगणों का बैज अलंकृत कर प्रतीक चिन्ह भेंट किया

रा.उ.प्रा.वि. मटेना की कक्षा आठ की छात्रा के द्वारा धारा प्रवाह के साथ बागेश्वर के इतिहास को सदन में प्रस्तुत किया गया। राज्य प्रभारी लक्ष्मण सिंह मेहता ने मिशन के संस्थापक / राष्ट्रीय संयोजक विंमल कुमार के शिक्षक साथियो के नाम दिये ऑडियो संदेश को सुनाया।। मिशन के गढ़वाल संयोजक श्री माधव सिंह नेगी जी ने मिशन का उद्देश्य स्पष्ट करते हुए मिशन शिक्षण संवाद द्वारा प्रतिदिन दी जाने वाली शैक्षिक सामग्री को सदन में रखा। तथा शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे मिशन के उत्कृष्ट प्रयासों को सदन में रखा गया है। 4h development पर अपनी बात को रखते हुए श्री नेगी द्वारा मानसिक विकास, शारीरिक विकास, आध्यात्मिक विकास व कौशलों के विकास पर मिशन किस तरह से कार्य कर रहा है, स्पष्ट किया गया।

अपर शिक्षा निदेशक प्रारंभिक शिक्षा नैनीताल के प्रतिनिधि प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी बागेश्वर द्वारा मिशन की प्रशंसा करते हुए कहा कि अवकाश के दिनों में भी हमारे शिक्षक छात्र हित में बेहतर प्रयास कर रहे हैं। यह हमारी शिक्षा व्यवस्था के लिए शुभ संकेत है।

मिशन के राज्य प्रभारी श्री मेहता जी द्वारा सभी का हृदय की गहराइयों से आभार व धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा है कि मिशन शिक्षण संवाद की स्थापना, कार्यों व उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के प्रत्येक विकासखंड में मिशन शिक्षण संवाद समूह में आपसी साझाकरण से अपने कार्यों, नवाचारों का आदान-प्रदान करता है।

जिला संयोजक श्री नीरज पंत जी द्वारा सभी आमन्त्रित अतिथियों का स्वागत सत्कार कर आभार प्रकट किया। इस महत्वपूर्ण कार्यशाला में सभी मंचासीन अधिकारियों द्वारा 4 शिक्षकों नीरज पन्त( बागेश्वर), रेखा गढ़िया( अल्मोड़ा), गायत्री पाण्डेय( ऊधम सिंह नगर), रेखा बोहरा ( चम्पावत) को अनमोल शिक्षक रत्न पुरास्कर व 13 शिक्षकों को उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान से नवाजा गया। सम्मानित शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा विद्यालयों में किये गए नवाचारों को पीपीटी के माध्यम से सदन में प्रस्तुत किया गया।
अपने अध्यक्षीय भाषण में डायट प्राचार्य ने कहा है कि मिशन शिक्षण संवाद बेहतरीन कार्य कर रहा है लेकिन जिन छात्रों के यह कार्य हो रहा है उनकी संख्या भी विद्यालयों में बनी रहे उसके लिए भी बेहतरीन कार्य करे। समस्त जिला संयोजकों द्वारा सदन को संबोधित किया गया।

काव्यांजलि टीम प्रभारी नीरज पंत जी को बेहतरीन कार्य करने के लिए राज्य संयोजक श्री मेहता जी अंगवस्त्र भेंट कर मिशन सहयोगी सम्मान से सम्मानित किया गया। बहुत सुन्दर ढ़ंग से कार्यक्रम का संचालन करने के लिए,उचित प्रबन्धन, व्यवस्था मेजबान जिला संयोजके नीरज पंत जी व हेम पाठक जी तथा उनकी उनकी पूरी टीम का का राज्य प्रभारी द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

राज्य प्रभारी द्वारा पर्यावरण संरक्षण व संवर्द्धन में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले विद्यालयों को रेड टेप संस्था द्वारा दिये गये प्रशस्ति पत्र जनपदवार प्रदान कर सम्मानित किया गया।

श्री मीना जोशी जी की कविता भी सभी को बहुत पसंद आयी तथा श्री शंकर सिंह अधिकारी ,दीपा आर्य द्वारा पी पी टी के माध्यम से अपने विद्यालय के क्रमोत्तर विकास के बारे में सदन को अवगत कराया गया।
हम शिक्षक हैं हम शिक्षा की तस्वीर बदल देंगे जागरूकता गीत ने भी खूब तालियां बटोरी। गायत्री पांडेय ने मिशन शिक्षण संवाद के बारे में कविता प्रस्तुत की अंत में मिशन के आदर्श प्रेणता डा0 कलाम द्वारा दी गयी शिक्षक प्रतिज्ञा व राष्ट्रीय गीत के साथ सभा का विसर्जन किया गया।

कार्यशाला में जिला संयोजक शंकर अधिकारी,गायत्री पाण्डेय, दीपा आर्य,सत्यम जोशी सहित नेतृत्व में सभी 6 जिलों के चयनित शिक्षक / शिक्षिकाओं सहित लगभग 150 शिक्षक – शिक्षिकाओं ने प्रतिभाग किया।